गांव में बिजली नहीं, बच्चों की शादी में होती है परेशानी,नही देना चाहता है इस गांव कोई भी अपनी लड़की

 गांव में बिजली नहीं,  बच्चों की शादी में होतीहै  परेशानी

  सरकार के वादे और दावे सिर्फ भाषणों तक सीमित रह जाते है।इसका जीता जागता सबूत पलामू में देखने को मिल रहा है


झारखंड: हुसैनाबाद- अनुमंडल मुख्यालय से महज पांच किलो मीटर कीदूरी पर कुकही पंचायत के भूरा गांव व बिंद टोला में आज तक नहीं पहुंची है मिजली। बिजली नहीं रहने से लोग काफीपरेशान हैं। उनके बच्चों की शादी ब्याह नहीं होपाता है।ग्रामीणों ने बताया कि उनके बच्चों की शादी के लिए मेहमानआते हैं। मगर बिजली के नहीं रहने की वजह से भाग जाते हैं।  बिजली के लिए ग्रामीणों से कई बार ठेकेदार व बिचैलियों नेपैसा उगाही किया। मगर उन्हें आज तक बिजली नहीं मिली।ग्रामीणों ने बताया कि इस गर्मी के मौसम में वह पेड़ के नीचेदिन तो गुजार लिया करते हैं। मगर रात भारी पड़ जाती है।गांव के युवकों ने बताया कि अधिकांश घरों में मोबाइल फोनहै। उसे चार्ज कराने जपला रेलवे स्टेशन या अन्य गांव जानापड़ता है। गांव की महिलाओं में काफी आक्रोष है। उन्होंनेबताया कि आज के युग में बिजली सबसे जरूरी है। वह बिजली के बिना किस तरह जीते हैं शबदों में बयां करना संभव नहीं है। उनके लिए सरकार व पंचायत का कोई मतलब नहींहै। हालांकी गांव से पक्की सड़क गुजरी है। ग्रामीणों ने कहाकि उन्हें जो बिजली दिला देगा, उसे वह अपना सच्चाहिमायती मानेंगे।