बिहार में एक बार फिर एनडीए की सरकार, मुख्यमंत्री समेत छह से आठ मंत्री ले सकते हैं शपथ

रिपोर्ट / संतोष दुबे  बिहार में विधानसभा चुनाव 2020 जीत के बाद एनडीए की सरकार बनाने को लेकर आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत आधा दर्जन लोगों को राज्यपाल फागू चौहान द्वारा सोमवार को शपथ दिलाए जाने की संभावना है। विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक नई सरकार के इस पहले शपथ ग्रहण समारोह में जो नेता शपथ लेंगे उनमें दो जदयू, दो भाजपा और एक-एक हम और वीआईपी से होंगे। कयासों पर भरोसा करें तो सीएम समेत आठ नेताओं के शपथ की भी चर्चाएं हैं। ऐसी स्थिति में भाजपा और जदयू से तीन-तीन लोगों का शपथ होगा। शपथ ग्रहण समारोह राजभवन में होगा। 

 हालांकि, मंत्रिमंडल के स्वरूप और सोमवार को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह को लेकर मुख्यमंत्री आवास में शाम साढ़े छह बजे से लेकर देर रात तक मंथन का दौर जारी रहा। इस मंथन में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा भाजपा नेता देवेन्द्र फडणवीस, भूपेन्द्र यादव, संजय जायसवाल, नागेन्द्र जी, तारकिशोर प्रसाद जबकि जदयू नेता विजय कुमार चौधरी और आरसीपी सिंह मौजूद रहे। 

जानकारी के अनुसार जदयू से नीतीश कुमार मुख्यमंत्री जबकि बिजेन्द्र प्रसाद यादव मंत्री, वीआईपी से मुकेश सहनी जबकि हम प्रमुख जीतन राम मांझी के पुत्र एमएलसी डॉ. संतोष सुमन मंत्री पद की शपथ लेंगे। 

वहीं, भाजपा से तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी का शपथ लेना तय माना जा रहा है। अगर अधिक की संख्या पर मुहर लगी तो भाजपा के वरिष्ठ नेता प्रेम कुमार, नंदकिशोर यादव, मंगल पांडेय, जदयू के श्रवण कुमार, नरेन्द्र नारायण यादव, महेश्वर हजारी आदि भी शपथ ले सकते हैं। इसके अलावा एक-दो नाम चौंकाने वाले भी हो सकते हैं। 

विधानसभा अध्यक्ष पर जिच

सूत्रों के अनुसार बिहार विधानसभा के अध्यक्ष को लेकर दोनों दलों में जिच फंस गयी है। संख्या बल के हिसाब से भाजपा ने इस पद के लिए दावा कर दिया है, जबकि जदयू पिछली सरकार की तरह इस पद को अपने पास रखना चाहती है। उसका तर्क यह भी है कि विधान परिषद के कार्यकारी सभापति भाजपा के ही हैं, जबकि उस हाउस में जदयू के भाजपा से अधिक सदस्य हैं।