महिला ने बनायी शराब, पहले खुद मरी, बाद में अन्य की हुई मौत

जहरीली हंड़िया पीने से पांच महिला समेत सात ग्रामीणों की मौत

सिमडेगा। झारखंड सिमडेगा जिले के ठेठईटांगर थाना क्षेत्र के केरिया घाटतरी गांव में जहरीली हंड़िया पीने से चार महिला समेत सात ग्रामीणों की मौत हो गयी, वहीं पांच लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। गंभीर रूप से बीमार लोगों को इलाज के लिए रिम्स रांची और राउरकेला अस्पताल भेजा गया है।

घटना के संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार ठेठईटांगर प्रखंड अंतर्गत केरया घटतरी गांव में शुक्रवार की रात गांव में एक भोज का आयोजन हुआ था। बताया गया है कि गांव में  एक महिला की मौत हो गयी थी, उसकी अंत्येष्टि और दफन क्रिया के बाद ग्रामीणों ने उसके घर जाकर हंड़िया पी थी, लेकिन किसी कारण से यह हंड़िया जहरीला हो गया और उसके सेवन के बाद उल्टी और दस्त की शिकायत मिलने पर तीन महिला और दो पुरूषों को इलाज के लिए सिमडेगा के सदर अस्पताल में भर्त्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गयी। वहीं एक महिला की गांव में ही मृत्यु हो गयी।

घटना की सूचना मिलने पर  मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने हंड़िया के सैंपल को जब्त कर जांच के लिए भेज दिया गया है। प्रशासन की ओर से लोगों से शराब और हंड़िया पीने से परहेज करने की अपील की गयी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार हंड़िया पीकर बीमार पड़े ग्रामीणों में केरेया पंचायत के वार्ड 11 का वार्ड सदस्य किशोर गुड़िया भी शामिल है, उसे परिजन अपनी व्यवस्था कर ओड़िशा के आईजीएच में इलाज के लिए ले गया है।

 महिला ने बनायी शराब, पहले खुद मरी, बाद में अन्य की हुई मौत

इस पूरे घटनाक्रम में सबसे दिलचस्प पहलु यह है कि गांव की फुलजेंसिया भेंगरा ने मंगलवार को ठेठईटांगर हाट से हड़िया बनाने में प्रयुक्त होने वाला रानू नामक कंद खरीदा था और बुधवार को हड़िया बनाया था। इसे तैयार करने के बाद फुलजेंसिया ने खुद इसका सेवन किया और उल्टी-दस्त के कारण उसकी तबीयत बिगड़ने के बाद शुक्रवार को उसकी मौत हो गयी। उसके अंतिम संस्कार में जुटे गांव वाले तथा रिश्तेदार रात में दफन क्रिया करने के बाद घर के बर्तन में रखे हड़िया को आपस में बांटकर पी लिया, जिसके बाद उनसब की भी तबीयत बिगड़ने लगी और छह लोगों की मौत हो गयी।