सारण्डा के लिए अच्छी खबर -- 14 करोड़ की लागत से बनेगी ग्रामीण पाइपलाईन जलापुर्ति परियोजना, 14 गांव के लोग होगें लाभंवित


अब 8000 ग्रामीण के घर पाइपलाईन से पहुंचेगी शुद्व पेयजल


पूर्व मुख्यमंत्री ने की परियोजना का शिलान्यास,डीएमएफटी फण्ड से पूरी होगी योजना


एसी के बंद कमरे में बैठकर सारंड़ा का विकास करने की योजना बनाना छोड़ दें, सारण्डा का विकास करना हो तो सारण्डा आकर योजना बनाएंःमधु कोड़ा


संतोष वर्मा। जगन्नाथपुर भास्कर न्यूज। सारण्डा क्षेत्र में रहने वाले लोगों के लिए एक अच्छी खबर यह है की 14 गांव में ग्रामीणों के घर  ग्रामीण पाइपलाईन जलापुर्ति योजना के तहत 8000 ग्रामीणों के घर तक शुद्व पेयजलापुर्ति पहुंचेगी. अब ग्रामीणों को चुंआ, गंदी नाले की पानी नहीं पीनी पड़ेगी. यह योजना ग्रामीण पाइपलाईन पेयजलापुर्ति योजना के द्वारा सुविधा बहाल कराया जायेगा.उक्त सुविधा को अंजाम तक पहुंचाने के लिए शनिवार को पूर्व मुख्यमंत्री मधुकोड़ा सारण्डा के गंगदा व सीमावर्ती क्षेत्र के सराई डुईआ में 14 करोड़ की लागत से बनने वाली ग्रामीण पाईपलाईन पेयजलापुर्ति योजना का शिलान्यास किया गया.इस योजना का शिलान्यास होते ही गांव कू ग्रामीणों के चेहरे पर खुशीयां झलकने लगी.अब तक सारण्डा के गांव में रहने वाले ग्रामीणों के पास सबसे बड़ी समस्या पेयजलापुर्ति की ही थी.इस समस्या को लेकर क्षेत्र के विधायक गीता कोड़ा द्वारा सरकार के पास जोरदार तरीके से रखी और सरकार ने भी श्रीमती कोड़ा की मांग पर हरी झण्डी देते हुए योजना को मंजूरी दे दी गई.ज्ञांत हो की गंदे पानी का सेवन करने से आये दीन गांव के ग्रामीण बिमारी कू चपेट में आया करता था.हलांकि इस योजना को पुरा होने में दो वर्ष लगेगें लेकिन लेट ही सही पर साराई डुईआ के ग्रामीणों का दिन बहुरने वाला है. वहीं सेलय दोधारी में परियोजना का शिलान्यास करने के पहले श्री कोड़ा के पास दोधारी स्कूल के बच्चों ने दोधारी स्कूल को छोटानागरा स्कूल मे विलय किये जाने की शिकायत की.उस समय श्री कोड़ा ने कहा की अधिकारियों को एसी में बंद कमरो से सारण्डा का योजना बनाना छोडे,सारड़ा का विकास करना है तो सारंड़ा में आकर योजना बनाने की आवश्यकता है.श्री कोड़ा से ने कहा कि इस परियोजना का शुरू होने से 14 गांव के 8000 ग्रामीणों को इसका लाभ मिलेगा. और यह योजना पर डीएमएफटी फंण्ड से 14 करोड़ खर्च होगें.यह योजना ग्रामीण पाईपलाईन पेयजलापुर्ति परियोजना विभाग के देख रेख में होगी. इस कार्य को पुरा करने के लिए संवेदक को विभाग द्वारा दो वर्ष का समय अवधी दिया गया है.श्री कोड़ा ने कहा अब 8000 ग्रामीणों के घर सिधे पाईप लाईन से शुद्व पानी मिलेगी.गांव के ग्रामीणों को अब लाल पानी, गंदी पानी तथा चुंआ का पानी नहीं पिना पड़ेगा.परियोजना के शिलान्यास के समय मुण्डा प्रताप सिंह व गांव के ग्रामीण काफी संख्या में उपस्थित थे.