कोचिंग सेंटर में हर्षोल्लास के साथ मना शिक्षक दिवस*



संवाददाता-विवेक चौबे

सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जीवन से सीख लें : बब्लू

कांडी-प्रखण्ड क्षेत्र अंतर्गत ग्रामपंचायत-घटहुआँ कला के विवेक विद्या कोचिंग सेंटर में हर्षोल्लास के साथ शिक्षक दिवस मनाया गया।कोचिंग के निर्देशक-शिव कुमार चौबे उर्फ बब्लू जी व अंग्रेजी शिक्षक-विवेक चौबे के द्वारा संयुक्त रूप से सर्वपल्ली राधाकृष्णन की तस्वीर पर पुष्प अर्पण कर केक काटा गया।कोचिंग के डायरेक्टर-शिव कुमार  चौबे उर्फ बब्लू जी ने कहा कि डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म 5 सितंबर 1888 को तिरुतनी नामक गाँव मे हुआ था।वे हमारे देश के दूसरे राष्ट्रपति थे।राजनीति में आने से पूर्व उन्होंने अपने जीवन के 40 साल अध्यापन को दिए थे।इनकी जन्मदिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जीवन सिख लें ।साथ ही कहा कि सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जीवन बेहद कठिन था । कठिन परिस्थितियों का सामना करते हुए शिक्षा ग्रहण किया । सार्वजनिक जीवन को अपनाते हुए समाज की सेवा करते हुए राष्ट्रपति पद तक पहुंचे । इसके उपरांत भारत रत्न से उन्हें सम्मानित किया गया । हम सबों को सर्वपल्ली राधाकृष्ण के पदचिन्हों पर चलकर देश की सेवा करनी चाहिए।इस मौके पर अंग्रेजी शिक्षक-विवेक चौबे ने कहा कि डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन को 1954 में उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।वे देश के दूसरे राष्ट्रपति होने के अलावे एक विख्यात दार्शनिक,महान शिक्षाविद व शिक्षक थे।उनके छात्र उनसे बेहद स्नेह करते थे।देश मे पहली बार 5 सितंबर 1962 को शिक्षक दिवस मनाया गया था।साथ ही विवेक चौबे ने कहा कि उक्त कोचिंग सेंटर से बच्चे- बच्चियों के पढ़ाई में औसत सुधार हुआ है । हम तमाम लोगों से आग्रह करते हैं कि अपने बच्चे बच्चियों को शिक्षा के  प्रति ध्यान दे ।उनके जीवन को संवारने का काम करें । और इस तरह के कार्यक्रमों में भाग लें ।शिव कुमार चौबे ने जानकारी देते हुए कहा कि उक्त कोचिंग सेंटर में दूर-दूर के गांवों से सैकड़ों विद्यार्थी पढ़ने के लिए आते हैं।क्लास 1 से लेकर कक्षा 10 तक के विद्यार्थियों को सभी विषयों की पढ़ाई होती है।इसके अलावे इंटरमीडिएट के विद्यार्थी अंग्रेजी के लिए आते हैं।साथ हीं कहा कि उक्त कोचिंग में निर्धन परिवार के लोग भी अपने बच्चों को पढ़वा सकते हैं।

मौके पर-सुजीत कुमार,ज्योति कुमारी,मनु कुमार,धर्मलता कुमारी,मौसम कुमारी,दीपू कुमार,विवेक कुमार,संजना कुमारी,रंजीत कुमार,काजल कुमारी,सरिता कुमार,पवन कुमार सहित सैकड़ों विद्यार्थीउपस्थितथे ।