मेदिनीनगर नगर निगम ने तय की जुर्माना राशि-खुले में कचरा फेंकने पर 100 से 5000 रू. तक फाईन समेत पलामू की महत्वपूर्ण खबरें एक क्लिक में देखें।

मेदिनीनगर नगर निगम ने तय की जुर्माना राशि-खुले में कचरा फेंकने पर 100 से 5000 रू. तक फाईन

डालटनगंज 26 सितंबर: अब मेदिनीनगर वासियों को गंदगी फैलाना काफी महंगा पड़ेगा। मेदिनीनगर  नगर निगम ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत खुले में शौच या पेशाब करना, खुले में कचारा फेंकने, आम रास्ता या  सरकारी जमीन का अतिक्रमण करने को दंडनीय अपराध की श्रेणी में रखा है और इसके लिए जुर्माना राशि वसूलने का निर्णय लिया है। 

नगर निगम के कार्यपालक पदाधिकारी अजय कुमार साव ने बताया कि खुले में कचरा फेंकने पर 100 रूपये से 5000 रूपये तक के जुर्माने का प्रावधान है। उन्होंने बताया कि अगर कोई आवासीय भवन द्वारा खुले में कचरा फेंका जाता है तो उस पर 100 रूपये का जुर्माना लगाया जायेगा और अगर यही काम कोइ्र ओद्योगिक प्रतिष्ठान द्वारा किया जाता है तो उस पर 5000 रूपये का जुर्माना होगा। श्री साव ने कहा कि अगर कोई दुकानदार ऐसा करते पकड़ा जाता है तो उस पर 1000 रूपये का फाइन लगाया जायेगा। होटल या रेस्तरां मालिक द्वारा  ऐसा करने पर उनके खिलाफ 2000 रूपये का जुर्माना का प्रावधान है। इसी प्रकार ठेला-खोमचा वालों से इस अपराध के लिए 100 रूपये वसूले जायेंगे। 

खुले में शौच किया तो 200 फाईन

श्री साव ने कहा कि मेदिनीनगर नगर निगम क्षेत्र को खुले में शौच से मुक्त घोषित कर दिया गया है। ऐसी सूरत में अगर कोई खुले में शौच करता पकड़ा जाता है तो उससे 200 रूपये का जुर्माना वसूला जायेगा। इसी प्रकार सार्वजनिक स्थलों पर पेशाब करने पर 100 रूपये का जुर्माना किया जायेगा। 


बीडीएम के इंजन-बोगी हुए अलग-अलग, बड़ी दुर्घटना टली  

डालटनगंज, 26 सितम्बर: रेलवे की बेहतरी के लिए हर दिन नये-नये नियमों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। देश के कोने-काने में बुलेट ट्रेन चलाने की तैयारी की जा रही है, लेकिन धनबाद रेल मंडल के बरवाडीह-गढ़वा रेल खंड के बीच लंबे समय से चल रही पुरानी व्यवस्था को ही सही से चलाने में रेल अधिकारियों की चूक सामने आ जा रही है। बुधवार को तो हद हो गयी। यूपी के वाराणसी से आ रही डाउन बीडीएम सवारी गाड़ी बड़ी दुर्घटना के शिकार होने से बाल-बाल बच गयी। पैसेंजर ट्रेन के इंजन और बोगी दो टुकड़ों में बंट गए। घटना के बाद यात्रियों में अफरा-तफरी मच गयी। कई यात्री पैदल किसी तरह गढ़वारोड स्टेशन पुनः पहुंचे और अपने गंतव्य की ओर रवाना हुए।

यात्रियों के अनुसार अपराहन करीब 3.30 बजे बीडीएम सवारी गाड़ी गढ़वारोड स्टेशन से खुली थी। ट्रेन स्पीड पकड़ ही रही थी कि अचानक इंजन बोगी से अलग होकर कुछ दूर निकल गया। घटना के बाद यात्रियों और ट्रेन चालक के होश उड़ गए। यात्रियों ने बताया कि इससे  किसी तरह की कोई अप्रिय घटना नहीं हुई, लेकिन अगर ट्रेन की स्पीड ज्यादा रहती और कहीं ट्रेन टर्निंग ट्रेक से गुजर रही होती तो बड़ी दुर्घटना हो सकती थी। या फिर जिस ट्रैक पर बोगी खड़ी थी, उसपर अगर कोई ट्रेन आने लगती तो बड़ा हादसा हो सकता था। 

डालटनगंज के टीआई अरविंद कुमार सिन्हा ने बताया कि उन्हें ऐसी सूचना मिली है। मामले की जांच के लिए वे घटनास्थल पर जा रहे हैं। जांच और स्थिति की जानकारी लेने के बाद ही कुछ बताया जा सकता है। 

इधर, जानकार सूत्र बताते हैं कि इंजन का हिस्सा काफी जर्जर था। इसलिए यह हादसा हुआ। हालांकि इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं हो पायी है। 


29 को लगेगा रोजगार मेला

डालटनगंज 26 सितंबर : श्रम नियोजन एवं प्रशिक्षण विभाग जिला नियोजनालय पलामू के तत्वावधान में आगामी 29 सितंबर को दत्तोपंत ठेंगड़ी रोजगार मेला का आयोजन टाउन हाॅल में किया गया है। जिले के उपायुक्त डा. शांतनु कुमार अग्रहरि ने बताया कि मेला का उद्घाटन पूर्वाहन 11 बजे किया जायेगा। कार्यक्रम में बतौर उद्घाटनकर्ता प्रदेश के स्वास्थ्य  मंत्री रामचन्द्र चन्द्रवंशी भाग लेंगे। उनके अलावा विशिष्ठ अतिथि के तौर पर पलामू के सांसद वीडी राम, विधायक राधाकृष्ण किशोर, आलोक चैरसिया, देवेन्द्र कुमार सिंह, कुशवाहा शिवपूजन मेहता, जिप अध्यक्ष श्रीमती प्रभा देवी और उपाध्यक्ष संजय सिंह भाग लेंगे। मेला के माध्यम से शिक्षित बेरोजगारों को रोजगार मुहैया कराना है। 


नगर निगम ने ‘माटी के लाल’ को बनाया स्वच्छता दूत

अविनाश देव ने शुरू की स्वच्छता की ब्रांडिंग 

डालटनगंज 26 सितंबर : मेदिनीनगर के लोगांे को स्वच्छ रहने की प्रेरणा अब राज्य माटी कला बोर्ड के सदस्य और संत मरियम आवासीय विद्यालय के निदेशक अविनाश देव दंेगे। मेदिनीनगर नगर निगम ने श्री देव को स्वच्छता का ब्रांड एम्बेसडर (स्वच्छता दूत) बनाया है। 

नयी जिम्मेवारी के साथ ही श्री देव ने स्वच्छता के प्रति जागरूकता की मुहीम शुरू कर दी है। इस सिलसिले में वे आज ‘थर्ड आई’ के कार्यालय पहंुचे और सम्पादकीय टीम से स्वच्छता की इस मुहीम में सहयोगी की अपील की। उन्होंने सड़कों पर गंदगी फैलाने वालों को  खबरों के माध्यम से हतोत्साहित करने का अनुरोध किया। थर्ड आई के सम्पादक कुंदन वर्मा  ने उन्हें आश्वस्त किया कि स्वच्छता की मुहीम में थर्ड आई्र उन्हें भरपुर सहयोग देगा। श्री वर्मा ने यह भी कहा कि स्वच्छता मिशन को सफल बनान सब की जिम्मेवारी है।

बातचीत में श्री देव ने कहा कि स्वच्छता के लिए वे संकल्पित हैं और अपने अभियान की शुरूआत उन्होंन अपने स्कूल से की है। उन्होंने कहा कि स्वच्छता हर किसी की आदत में शुमार हो, इसके लिए शहर में व्यापक अभियान चलाया जायेगा। प्रत्येक स्कूल में बच्चों को स्वच्छता दूत बनाया जायेगा। 

जिस तरह स्वच्छता के बिना स्वास्थ्य की कल्पना नहीं की जा सकती, ठीक उसी प्रकार दूरद्रष्टा युवा के बिना कोई मिशन पूरा नहीं हो सकता। अविनाश देव को ब्रांड एम्बेसडर बनाकर मेदिनीनगर नगर निगम ने यही संदेश देने का प्रयास किया है। उम्मीद की जानी चाहिए कि श्री देव निगम के भरोसे पर खरा उतरेंगे और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बताये रास्ते पर चलकर स्वच्छ मेदिनीनगर गढ़ने में अपनी महती भूमिका निभायेंगे और स्वच्छ पलामू-स्वस्थ पलामू की कल्पना को साकार करेंगे। 

 


कठौतिया कोल माइंस

ट्रांसपोर्टरों ने शुरू किया आंदोलन, ढुलाई कार्य प्रभावित 

डालटनगंज 26 सितंबर: पड़वा स्थित कठौतिया कोल माइंस परियोजना से जुड़े ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने आज से पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत अनिश्चितकालीन आंदोलन शुरू कर दिया है। इससे परियोजना का ढुलाई कार्य प्रभावित हुआ है। 

आंदोलन कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष अखिलेश्वर प्रसाद सिंह ने कहा कि पिछले वर्ष 5 मई  से यहां ट्रांसपोर्टिंग का कार्य शुरू हुआ थां तब से लेकर आज तक कंपनी द्वारा 160 रूपये प्रति टन की दर से भुगतान किया जाता रहा है, जबकि इस बीच डीजल की दर में ंबेतहाशा वृद्धि हो गयी है। 

कंपनी ने पिछले वर्ष मई में ही तीन महीने के भीतर दर में संशोधन करने का मौखिक आश्वासन दिया था, लेकिन आज तक दर में संशोधन नहंीं किया गया है। आंदोलनकारियों ने यह भी कहा कि  वर्क आर्डर में 15 दिनों के भीतर भुगतान करना तय है लेकिन दो-दो महीने तक भुगतान नहीं किया जाता। श्री सिंह ने कहा कि ट्रांसपोर्टरों की अनदेखी बर्दाश्त नहीं की जायेगी और मांगे पूरी होने तक आंदोलन जारी रहेगा। आंदोलन में अन्य लोगांे के अलावा राजन सिन्हा, महामंत्री संतोष कुमार सिंह, संगठन मंत्री शक्ति सिंह, पवन सिंह, महाराणा सिंह, ललनी सिंह, कृपाल सिंह, छोटन उपाध्याय और प्रदीप सिंह भी शामिल हैं। 

फोटो: आंदोलनरत ट्रांसपोर्ट


मेदिनीनगर नगर निगम ने तय की जुर्माना राशि

खुले में कचरा फेंकने पर 100 से 5000 रू. तक फाईन

डालटनगंज 26 सितंबर: अब मेदिनीनगर वासियों को गंदगी फैलाना काफी महंगा पड़ेगा। मेदिनीनगर  नगर निगम ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत खुले में शौच या पेशाब करना, खुले में कचारा फेंकने, आम रास्ता या  सरकारी जमीन का अतिक्रमण करने को दंडनीय अपराध की श्रेणी में रखा है और इसके लिए जुर्माना राशि वसूलने का निर्णय लिया है। 

नगर निगम के कार्यपालक पदाधिकारी अजय कुमार साव ने बताया कि खुले में कचरा फेंकने पर 100 रूपये से 5000 रूपये तक के जुर्माने का प्रावधान है। उन्होंने बताया कि अगर कोई आवासीय भवन द्वारा खुले में कचरा फेंका जाता है तो उस पर 100 रूपये का जुर्माना लगाया जायेगा और अगर यही काम कोइ्र ओद्योगिक प्रतिष्ठान द्वारा किया जाता है तो उस पर 5000 रूपये का जुर्माना होगा। श्री साव ने कहा कि अगर कोई दुकानदार ऐसा करते पकड़ा जाता है तो उस पर 1000 रूपये का फाइन लगाया जायेगा। होटल या रेस्तरां मालिक द्वारा  ऐसा करने पर उनके खिलाफ 2000 रूपये का जुर्माना का प्रावधान है। इसी प्रकार ठेला-खोमचा वालों से इस अपराध के लिए 100 रूपये वसूले जायेंगे। 

खुले में शौच किया तो 200 फाईन

श्री साव ने कहा कि मेदिनीनगर नगर निगम क्षेत्र को खुले में शौच से मुक्त घोषित कर दिया गया है। ऐसी सूरत में अगर कोई खुले में शौच करता पकड़ा जाता है तो उससे 200 रूपये का जुर्माना वसूला जायेगा। इसी प्रकार सार्वजनिक स्थलों पर पेशाब करने पर 100 रूपये का जुर्माना किया जायेगा। 

कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया कि निजी टैªक्टर द्वारा परिवहन करते हुए सड़कों पर बजरी कचरा, गोबर, मलबा आदि बिखेरने पर 1000 रूपये का जुर्माना तय किया गया है। अपने मकान का गंदा पानी आम सड़क पर बहाने पर 1000 रूपये वसूले जायेंगे। खाली, सरकारी जमीन, आम रास्ता एवं मकान के सामने गाय, भैस, बकरी, कुत्ता, भेड़, सुअर आदि पालतू जानवरों से गंदगी फैलाने पर भी 1000 रूपये का फाईन वसूला जायेगा। 

शादी-विवाह स्थलों के बाहर कचरा फैलाने पर 2500 से 5000 रूपये तक का जुर्माना वसूला जायेगा, जबकि अपने मकान के गंदा पानी का निकास आम सड़क पर करने पर फाइन के तौर पर 5000 रूपये वसूले जायेंगे। व्यवसाइयों द्वारा निर्धारित कचरा पात्र अवाश्यक क्षमता का नहीं रखने पर और प्राईवेट अस्पताल, नर्सिंग होम, क्लिनिक, दवा खाना द्वारा आम रास्ता, फुटपाथ या सड़क पर गंदगी फैलाने पर 2000-2000 रूपये का जुर्माना लिया जायेगा। 

कार्यपालक पदाधिकारी श्री साव ने लोगांे से अपील की है कि अपने-अपने घरों एवं दुकानों में गीला और सूखा कचरा के लिए अलग-अलग डस्टबीन रखें और संग्रहित कूड़ा नगर निगम के वाहन में डालें। उन्होंने यह भी कहा कि लोग शौच के लिए घरों में निर्मित शौचालय का इस्तेमाल करें।