तीन पूर्व माओवादी सहित आठ गिरफ्तार समेत पलामू की महत्वपूर्ण खबरें एक क्लिक में देखें।

जयंती पर याद किए गए शहीद ए आजम, इप्टा ने दी श्रद्धांजलि 


डालटनगंज, 28 सितम्बर: शहीद ए आजम भगत सिंह की 111वीं जयंती पर इप्टा ने उन्हें याद किया। इप्टा की ओर से रेड़मा स्थित कार्यालय से प्रभातफेरी निकाली गई। भगत सिंह चैक पर स्थापित शहीदे आजम की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया गया। इप्टा के राज्य अध्यक्ष डॉ अरुण शुक्ला, महासचिव उपेंद्र मिश्रा, नगर अध्यक्ष शैलेंद्र सिंह भाकपा के पूर्व राज्य सचिव केडी सिंह, सेसा के कौशिक मल्लिक, नई संस्कृति सोसायटी के अजीत पाठक समेत अन्य लोगों ने माल्यार्पण कर भगत सिंह के विचारों को आगे बढ़ाने का संकल्प लिया। 


इस मौके पर इप्टा के कलाकारों ने शहीद गीत प्रस्तुत कर उन्हें इंकलाबी सलाम किया। मौके पर डॉ शुक्ला ने कहा कि भगत सिंह को याद करने की परंपरा पलामू में काफी लंबे समय से रही है। उनकी जयंती पर हमें यह संकल्प लेना चाहिए कि भगत सिंह के विचारों को जन-जन तक पहुंचाएं, क्योंकि आज के दौर में इसकी प्रासंगिकता और भी बढ़ गयी है। 


भाकपा नेता केडी सिंह ने कहा कि अघोषित फासीवाद के दौर से हमारा मुल्क गुजर रहा है। ऐसे समय में भगत सिंह के विचार देश व समाज को नई दिशा देगी। शैलेंद्र सिंह ने कहा कि इप्टा समाज में सब के लिए सुंदर दुनिया का सपना संजोए अपने संस्कृतिकर्म को आगे बढ़ा रही है। प्रेम प्रकाश ने कहा कि हमें भगत सिंह के रास्ते आगे बढ़ते हुए प्रतिरोध की जन संस्कृति विकसित करने की जरूरत है। 


इस अवसर पर इप्टा के शब्बीर अहमद, गौतम कुमार, विनीत प्रताप सिंह, शशि पांडे, संजीत दुबे, अजीत ठाकुर, प्रीतम कुमार, यश प्रकाश, दिनेश शर्मा, रविशंकर समेत अन्य लोग उपस्थित थे। शाम को भगत सिंह चैक पर सांस्कृतिक संध्या का भी आयोजन किया गया। 



चैनपुर से छह गिरफ्तार, लंबे समय से थे फरार 


चैनपुर, 28 सितम्बर: विभिन्न तरह के वारंटियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में सुपूर्द करने की कार्रवाई काफी तेज हो गयी है। चैनपुर पुलिस द्वारा कार्रवाई कर गिरफ्तार किए गए छह स्थायी वारंटियों को न्यायालय में सुपूर्द किया गया। थाना प्रभारी सुनीत कुमार ने बताया कि अजलतुआ गांव में छापामारी कर पुरन भुइयां, जीतन भुइयां, बीतन भुइयां, नेमा भुइयां, बाबूलाल भुइयां, भागीरथी भुइयां को गिरफ्तार किया गया। सभी लंबे समय से फरार चल रहे थे।



तीन पूर्व माओवादी सहित आठ गिरफ्तार 


डालटनगंज, 28 सितम्बर : मनातू और नौडीहा बाजार थाना क्षेत्र में पुलिस की ओर से की गयी कार्रवाई में तीन पूर्व माओवादियों सहित आठ फरार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। मनातू थाना पुलिस ने 14-15 वर्ष पुराने विभिन्न उग्रवादी कांडों के तीन आरोपियों दुखी साव, भगवती भुइयां एवं रामअवतार उर्फ रामअवतार महतो को मिटार गांव से गिरफ्तार किया। थाना प्रभारी चन्द्रशेखर कुमार ने बताया कि सभी आरोपियों को न्यायालय में उपस्थापना के लिए भेजा गया है। अन्य वारंटियों-फिरारियों एवं भगोड़े के विरूद्ध छापामारी जारी है।


इधर, नौडीहा बाजार पुलिस ने जमुना गांव से फकुरा भुइयां, वंशी भुइयां, परवल सिंह, शिवनाथ सिंह व रामनाथ सिंह को गिरफ्तार किया गया है। थाना प्रभारी ने बताया कि पांचों आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए विशेष अभियान चलाया गया। सभी को न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया है। 



सेविकाओं का तीन दिवसीय मोबाईल प्रशिक्षण शुरू


पांकी, 28 सितम्बर : स्थानीय बाल विकास परियोजना कार्यालय में आईसीआरटीएम का तीन दिवसीय मोबाईल प्रशिक्षण शुरू हो गया है। यह प्रशिक्षण 27 सितम्बर से प्रारम्भ हुआ है, जो 29 सितंबर तक चलेगा। इसमें सेक्टरवार सेविकाओं का तीन बैच बनाया गया है। इन्हें महिला पर्यवेक्षिका अंजना दास, श्वाति कुमारी, सीमा झा, गीता देवी, रानी गीता एवं रंजना यादव प्रशिक्षण दे रही हैं। अब मोबाइल के माध्यम से परिवार की जनसंख्या एवं लाभुकों की सूची इंट्री की जायेगी। इसकी मॉनीटरिंग सीधे विभाग के निदेशालय द्वारा की जायेगी।उधर हैदरनगर और हुसैनाबाद में भी आंगनबाड़ी सेविकाओं को मोबाइल और एप का प्रशिक्षण दिया जारहा है।


खुदरा व्यापार में एफडीआई का विरोध, धरना पर बैठे व्यवसायी 


डालटनगंज, 28 सितम्बर: खुदरा व्यवसाय में एफडीआई का विरोध तेज हो गया है। एफडीआई के प्रवेश के विराध में और आॅनलाइन कंपनियों के अनाधिकृत रूप से काबीज हो जाने के खिलाफ शुक्रवार को छहमुहान पर मंझोले कारोबारियों द्वारा एक घंटे तक धरना दिया गया। धरना में फेडरेशन आॅफ झारखंड चेंबर आॅफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष रंजीत मिश्रा मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित थे।  


धरना के माध्यम से फेडरेशन आॅफ झारखंड चेंबर आॅफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज के सदस्यों ने एफडीआई का विरोध किया और इसका बुरा असर कारोबार पर पड़ने की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि एफडीआई के प्रवेश से देश में लगभग सात करोड़ खुदरा व्यवसायी प्रभावित होंगे। सरकार से इस फैसले पर पुनः विचार करने की मांग की गयी। धरना की अध्यक्षता चेंबर के जिला उपाध्यक्ष कृष्णा प्रसाद अग्रवाल ने की। 



आॅनलाइन फार्मेसी एवं फर्मासिस्ट संकट का विरोध, बंद रही दवा दुकानें   


डालटनगंज, 28 सितम्बर: आॅनलाइन फार्मेसी एवं फर्मासिस्ट संकट के विरोध में आज केमिस्ट एंड ड्रग्गिस्ट्स फेडरेशन की एक दिवसीय हड़ताल का पलामू जिले में असर देखा गया। पलामू की करीब-करीब सभी दवा दुकानें बंद रही। 


बंद की सफलता के लिए फेडरेशन की पलामू इकाई के तत्वावधान में भगत सिंह चैक पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। यहां भगत सिंह की प्रतिमा पर माल्यापर्ण कर मोटरसाइकिल जुलूस निकाला गया। जुलूस शहर के प्रमुख मार्गों का भ्रमण किया और इसमें शामिल दवा कारोबारी दवा दुकान मालिकों से अपनी-अपनी दुकानें बंद रखने का आह्वान किया।     


छहमुहान पहुंचने पर जुलूस सभा में तब्दील हो गया। यहां वक्ताओं ने कहा कि खुदरा दवा विक्रेताओं के यहां कार्यरत फार्मासिस्ट के नवीनीकरण को समाप्त करने के लिए झारखंड फॉर्मेसी कॉउन्सिल ने जो प्रस्ताव रखा है, वह निंदनीय है। औषधि नियंत्रण प्रशासन द्वारा लिए जा रहे अव्यवहारिक फैसलों से झारखंड के दवा विक्रेताओं के समक्ष गंभीर समस्यायें उत्पन्न हो जाएंगी। दुकानदार अपनी रोजी रोटी से दूर हो जायेंगे। सभा के माध्यम से केन्द्र एवं राज्य सरकार से फार्मेसी प्रस्ताव वापस लेने की मांग की गयी। साथ ही फर्मासिस्ट नवीनीकरण प्रक्रिया को अविलंब चालू करने की मांग की गयी। दवा व्यवसाय को बचाने के लिए प्रत्येक दवा व्यवसायी को खुद सरकार प्रशिक्षण कार्यक्रम के माध्यम से प्रशिक्षत कर फर्मासिस्ट के समकक्ष ‘दक्षता प्रमाण पत्र’ जारी कर उनके रोजगार को सुरक्षा प्रदान की जाए।

कार्यक्रम में अन्य लोगों के अलावा मृत्युंजय शर्मा, सतीश तिवारी, अमिताभ मिश्रा, राजहंस अग्रवाल, जीतेन्द्र प्रसाद, जीतेन्द्र कुमार, प्रिंस कुमार, डा. एम.के. गोस्वामी, संतोष गुप्ता, हनी सिन्हा, प्रेम प्रकाश पाठक, सुरेन्द्र अग्रवाल, जवाहर अग्रवाल, अशोक अग्रवाल युगल किशोर अग्रवाल, संतोष सिंह नामधारी भी शामिल थे।




स्वच्छता अभियान से जुड़ेंगे पूर्व सैनिक, एक अक्टूबर करेंगे शहर की सफाई  


डालटनगंज, 28 सितम्बर : पूरे देश में चल रहे स्वच्छता पखवारा के तहत पूर्व सैनिक स्वच्छता अभियान से जुड़ेंगे और एक अक्टूबर को शहर की सफाई करेंगे। अखिल भारतीय पूर्व सैनिक सेवा परिषद की पलामू इकाई के रेड़मा कार्यालय में कॉर्पस कमिटी की बैठक में इससे संबंधित निर्णय लिया गया। बैठक की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष गायानांड पांडे ने की, जबकि संचालन महासचिव दिनेश कुमार गुप्ता ने किया।

मीडिया प्रभारी दामोदर मिश्रा ने बताया कि बैठक में परिषद का लेख जोखा प्रस्तुत किया गया। तथा परिषद के कार्यकलापों के बारे में विस्तृत से चर्चा किया गया। निर्णय लिया गया कि, आगामी एक अक्टूबर को स्वच्छता पखवाड़ा के उपलक्ष्य में सफाई अभियान चलाया जायेगा।  हॉस्पिटल चैक से छहमुहान तक सफाई की जायेगी। परिषद के सभी सदस्यों से अनुरोध किया गया कि सफाई अभियान में ज्यादा से ज्यादा संख्या में भाग लें। 

बैठक में प्रदेश उपाध्यक्ष वाई पी सिंह, महासचिव दिनेश कुमार गुप्ता, संगठन मंत्री हरिहर तेवारी, सचिव समता प्रसाद शर्मा, कोषाध्यक्ष दयाशंकर शर्मा, रमन श्रीवास्तव, उपाध्यक्ष आर.सी यादव, कार्यालय मंत्री श्रीराम सिंह, पेंशन अधिकारी कामाख्या नारायण सिंह, सचिव गिरिवर शुक्ला, शंभू प्रसाद सिंह उपस्थित थे।



एफसीआई गोदाम के स्थानान्तरण से खाद्यान्न वितरण में आयेगी पारदर्शिता: डा. मेहता  


डालटनगंज, 28 सितम्बर: पदमा निजी एफसीआई गोदाम का स्थानांतरण कर मनातू शिफ्ट करने और तरहसी का सरकारी गोदाम में चले जाने से अब मनातू और तरहसी के जनवितरण प्रणाली के दुकानदार भाइयों को कम अनाज मिलने, प्रति बोरा अवैध पैसा वसूली और रंगदारी से मुक्ति मिलेगी। इसके लिए जिला प्रसासन के प्रति हम आभार प्रगट करते हैं। उक्त बातें झामुमो के केन्द्रीय सचिव डा. शशिभूषण मेहता ने कही। 


डा. मेहता आज मनातू के दौरे के क्रम में वहां उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कई वर्षों से अनवरत कुछ लोगों का सिंडिकेट एफसीआई गोदाम को पदमा निजी घर से चला रहा था, जिससे डीलरों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। एक तो अनाज कम, दूसरी अवैध वसूली की जाती थी।


उन्होंने कहा कि गोदाम को कुछ लोग स्थानांतरण नहीं होने देना चाह रहे थे। इसके लिए वे परेशान थे, जबकि झामुमो लगातर इस गोदाम के स्थानांतरण करने के लिए मुख्य सचिव, संबंधित मंत्री और जिले के उपायुक्त को पत्र के माध्यम से अवगत कराते रहा। अंत मंे आंदोलन करने की तैयारी थी, लेकिन जिला प्रशासन ने इस मामले को गंभीरता से लिया और गोदाम का स्थानान्तरण सरकारी भवन में कर दिया। 


दौरे के दौरान मुकेश गुप्ता, शौकत खान, लाडले हसन, मुनेसर सिंह, अंतु सिंह, गुड्डू सिंह भी उपस्थित थे।


 


जाम रहा हरिहर चैक, पुलिस हस्तक्षेप के बाद आवागमन हुआ समान्य   


हुसैनाबाद, 28 सितम्बर: निर्माणाधीन छत्तरपुर-जपला रोड में उड़ती धूल से त्रस्त स्थानीय लोगों ने आज हरिहर चैक को जाम कर दिया। लोगों का कहना है कि रेलवे क्रासिंग से हरिहर चैक होते देवरी रोड में उड़ रहे धूल से आम जनता को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। अब पानी का छिड़काव भी बंद हो गया है, जिसकी वजह से परेशान होकर आम जनता ने शुक्रवार को लगभग 11 बजे दिन में हरिहर चैक के पास चारों ओर गाड़ी लगाकर सड़क को जाम कर दिया। इस वजह से हरिहर चैक से होकर जाने वाले वाहनों का आवागमन काफी प्रभावित हुआ और काफी देर तक जाम लगा रहा। 


इस बात की सूचना हुसैनाबाद थाना को दी गई। सूचना मिलते ही हुसैनाबाद थाना से पुलिस की टीम हरिहर चैक पहुंची और लोगों को समझा-बुझा कर जाम को हटाया गया। रोड पर पानी छिड़कवाने का आश्वासन देकर जाम हटाया गया। मौके पर अजीत सिंह, नवीन सिंह, अविनाश कुमार, नीलू सिंह, नितेश सिंह, रवि शर्मा, शुभाष कुमार सहित अन्य लोग मौजूद थे।




ेनक्सलियों के खिलाफ अभियान में पलामू पुलिस को बड़ी सफलता


टीपीसी एरिया कमांडर समेत छह नक्सली गिरफ्तार


डालटनगंज 28 सितंबर: नक्सलियों के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान में पलामू पुलिस को बड़ी सफलता मिली हैं। पुलिस ने टीपीसी के एरिया कमांडर नीलम महतो समेत  छह नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। 


टीपीसी एरिया कमांडर नीलम महतो को उसके पैतृक गांव लेस्लीगंज थाना क्षेत्र के हरसंगरा से गिरफ्तार किया गया है। नीलम महतो वर्ष 2001 में प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के रवीन्द्र के दस्ते में शामिल हुआ था। इसके बाद वर्ष 2017 में वह टीपीसी में शामिल हो गया। उसका कार्य क्षेत्र लेस्लीगंज और सतबरवा रहा है। उसके खिलाफ कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। 


उधर, मनातू थाना क्षेत्र में स्थायी वारंटियों की गिरफ्तारी के लिए चलाये गये अभियान में तीन पूर्व माओवादियों को गिरफ्तार किया गया है। इधर, पुलिस ने हुसैनाबाद थाना क्षेत्र के महुदंड इलाके से छापेमारी कर वर्षों से फरार हार्डकोर नक्सली प्रसिद्ध परहिया और कामेश्वर परहिया को गिरफ्तार किया है।


हुसैनाबाद पुलिस महुदंड के इलाके में नक्सल विरोधी अभियान में निकली हुई थी। इसी दौरान सूचना मिली कि दोनों नक्सली गांव में हैं। सूचना के आलोक में पुलिस ने छापेमारी कर दोनों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार नक्सली हुसैनाबाद और छतरपुर के इलाके में कई बड़े नक्सल हमले के आरोपी है। प्रसिद्ध परहिया 2001 में भी गिरफ्तार हुआ था, जेल से निकलने के बाद वह नक्सल संगठन में सक्रिय हो गया था। महुदंड के इलाके में अभियान एसपी अरुण कुमार सिंह, हुसैनाबाद डीएसपी मनोज कुमार, महुदंड पिकेट प्रभारी उपेन्द्र पासवान, लठेया ओपी प्रभारी योगेन्द्र पासवान के नेतृत्व में चला।


दोनों नक्सलियों पर 2011 और 2013 में पुलिस पर हमला करने का आरोप है। छतरपुर के कालापहाड़ और लठेया पुलिस पिकेट पर हमला करने के दोनों नामजद आरोपी हंै। महुदंड के इलाके में 33 नक्सली कैडर को पुलिस ने चिन्हित किया है। 


पिछले एक महीने में एक दर्जन से अधिक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार नक्सली प्रसिद्ध परहिया को पुलिस के साथ हुए मुठभेड़ में पहले गोली भी लगी है। प्रसिद्ध कुख्यात माओवादी कमांडर अमृत यादव, अजय यादव के दस्ते का सदस्य भी रहा है। पुलिस प्रसिद्ध को कई दिनों से तलाश कर रही थी।