पलामू -आंचलिक भक्ति व लोक गीतके क्षेत्र में नेहा निहारिका नेमचा दी धूम, हमार माईमुस्कईली़----

आंचलिक भक्ति  लोक गीतके क्षेत्र में नेहा निहारिका नेमचा दी धूम, हमार माईमुस्कईली़----दीदार शेरावालीका------,नैना गिरे लोर-----इनदिनों चर्चित

 पलामू,

गढ़वा जिले के कांडी प्रखंड केचचेरिया गांव से निकलकरनेहा निहारिका ने आंचलिकभक्ति  लोक गीत के क्षेत्र मेंधूम मचा दी है। उनके पिताराम नरेश राम  हैदरनगर प्रखंडके बीइइओ हैं। उनके सान्निध्यमें ही नेहा निहारिका ने स्कूलीशिक्षा के दौरान ही गीत संगीतके क्षेत्र में कदम बढ़ाया है।फिलवक्त वह पटना में रहकरसंगीत में उच्च शिक्षा ग्रहणकरने के साथ ही लोक  भक्तिगीत के कई एलबम प्रसारितकराया है। इनमें इन दिनो मांदेवी पर आधारित उनके स्वरमें हमार माई मुस्कईली----दीदार शेरावाली का----------- नैना गिरे लोर--------- कर्ण प्रियहो गये हैं। उनके पिता नेबताया कि अगर इरादे नेकऔर कुछ कर गुजरने का जुनूनहो तो कठिन रास्ते भी आसानहो जाते है। सफलता निश्चितही कदम चूमने लगती है। इसेचरितार्थ उनकी बेटी नेहानिहारिका ने कर दिया है।अबतक लेली अरघ आदित मोर-------- देवों के देव---------- शुभविवाह----------- मेरा भारतमहान----------------- बधाईयां--------------- शुभकामना----------गालों पे गुलाल समेत अन्यएलबम यू ट्यूब, बेबसाईट भोजपुरी गंगा टीवी चैनल परभी  उपलब्ध है। उनके गीत केनिर्देशन में नितेश ठाकुर, अप्पूसिंह ,विक्की माया, ऋषि राज, सोनू अंकु  निर्देशक राघवेन्द्रसिंह का भी समम्मिलितसहयोग है।