हास्टल खाली कराने का विरोध, समाहरणालय घेरकर प्रदर्शन

हास्टल खाली कराने का विरोध, समाहरणालय घेरकर प्रदर्शन 

डालटनगंज, 13 अक्टूबर : कल्याण विभाग द्वारा जिले में संचालित सभी छात्रावासों को खाली कराने के विषय पर शनिवार को एसी, एसटी, ओबीसी अल्पसंख्यक छात्र संघर्ष मोर्चा के बैनर तले उपायुक्त कार्यालय पर करीब डेढ़ घंटे तक रोषणपूर्ण प्रदर्शन किया गया। इस दौरान करीब 500 सौ की संख्या में उपस्थित प्रदर्शनकारी उपायुक्त, जिला कल्याण पदाधिकारी और सरकार विरोधी जमकर नारेबाजी कर रहे थे। 

हाथों में मांगों से संबंधित तख्तियां लिए हुए छात्रवास के छात्र-छात्राएं रेड़मा स्थित छात्रावास से नारेबाजी करते हुए समाहरणालय स्थित उपायुक्त कार्यालय पहुंचे थे। प्रदर्शन के दौरान प्रशासन की ओर से प्रतिनिधि के रूप में वार्ता करने सदर एसडीओ नंकिशोर गुप्ता, सदर सीओ शिवशंकर पांडेय, जिला कल्याण पदाधिकारी सुभाष कुमार पहुंचे। पदाधिकारियों को देखते ही प्रदर्शनकारी और अधिक उग्र हो गए। एसडीओ ने प्रदर्शनकारियों को आश्वस्त किया कि उनकी सारी मांगे जायज है, और प्रशासन छात्रावास में अध्यनरत करने वालों को छात्रावास नहीं हटायेगा, लेकिन जो लोग अध्यनरत नहीं है, उन्हें निश्चित तौर पर हटाया जायेगा। छात्रावास को ठेकेदारी और राजनीति का अखाड़ा नहीं बनने देंगे। प्रदर्शनकारी उपायुक्त को बुलाने की मांग पर अड़े हुए थे। इस दौरान कई बार प्रदर्शनकारियों ने छात्रावास नहीं खाली नहीं कराने का एसडीओ पर दबाव बनाने का प्रयास किया, लेकिन एसडीओ ने स्पष्ट कर दिया कि गैर-अध्यनरत लोगों को छात्रावास में किसी भी कीमत पर नहीं रहने दिया जायेगा। जो लोग गैर अध्यनरत है वे स्वेच्छा से छात्रावास खाली कर दे, नहीं तो प्रशासन के जांच वे पकड़े जायेंगे तो कानूनी कार्रवाई का सामना करना पडे़गा। बाद में एसडीओ द्वारा जांच कमिटी बनाने के विषय पर प्रदर्शकारी सहमत हुए।

इस दौरान पूर्व सांसद कामेश्वर बैठा, दिहाड़ी मजदूर युनियन के नेता राजीव कुमार, माले नेता सरफराज आलम, बसपा नेता शत्रुघ्न कुमार शत्रु, युगल पाल, बलराम उरांव, दिव्या किरण कुजूर, सपना कुमारी, सरोजनी लकड़ा, सीमा टोपनो, रविकांत कच्छप सहित काफी ंसंख्या में छात्रावास के छात्र-छात्राएं शामिल थे।

जांच के लिए एसडीओ ने बनायी कमिटी

सदर एसडीओ ने अध्यनरत और गैर अध्यानरत छात्रों की जांच के लिए नौ सदस्यीय कमिटी बना दी है। कमिटी में प्रशासन की ओर से सदर एसडीओ नंदकिशोर गुप्ता, जिला कल्याण पदाधिकारी सुभाष कुमार, सदर सीओ शिवशंकर पांडेय, डीएसपी मुख्यालय सुरजीत कुमार और छात्र प्रतिनिधि के तौर पर प्रदीप कुमार, अनुराग कुमार, शैलेंद्र कुमार, दिव्या भगत, सरिता केरकेट्टा, रेणू कुमारी को शामिल किया गया है। कमिटी छठ पूजा के बाद छात्रावासों की जांच करेगी। एसडीओ ने बताया कि छात्रावास में 10 किलोमीटर के रेडियस में रहने वाले अध्यनरत छात्रों को ही रहने दिया जायेगा। प्रदर्शनकारियों की सभी मुलभूत मांगांे को मान लिया गया है।