उपायुक्त के जनता दरबार में फरियादियों की भीड़ , जन शिकायतों पर डीसी ने दिखाये कड़ा रूख, डीएसई कार्यालय के सहायक को निलंबित करने का दिया निर्देश

                उपायुक्त के जनता दरबार में फरियादियों की भीड़

                 जन शिकायतों पर डीसी ने दिखाये कड़ा रूख

            डीएसई कार्यालय के सहायक को निलंबित करने का दिया निर्देश

मेदिनीनगर: डीसी कार्यालय में डीसी डाॅ. शांतनु कुमार अग्रहरि के साप्ताहिक जनता दरबार में जिले के विभिन्न प्रखण्डों से पहुंचे फरियादियों की फरियाद सुनी गयी। उपायुक्त ने आॅन स्पोट कार्रवाई के लिए संबंधित पदाधिकारियों को निर्देश भी दिये। इस दौरान छरतपुर के आरा उत्क्रमित मध्य विद्यालय के सहायक शिक्षक पुरनानंद भारती ने उपायुक्त को बताया कि उन्होंने अंतर जिला स्थानांतरण के लिए जिला शिक्षक अधीक्षक कार्यालय में आवेदन दिया था, किन्तु शिक्षा स्थापना समिति की बैठक में उनका आवेदन प्रस्तुत ही नहीं किया गया। इस शिकायत को गंभीरता से लेते हुए डीसी डाॅ. अग्रहरि ने तत्काल मामले की तहकीकात शुरू की और डीएसई को जनता दरबार में बुलाया। जिसमें पता चला कि डीएसई कार्यालय के सहायक विनय सिंह द्वारा जान-बुझकर बैठक में आवेदन प्रस्तुत नहीं किया गया। इस पर नाराज उपायुक्त ने सहायक श्री सिंह को निलंबित करने के लिए विभागीय कार्रवाई शुरू करने का निर्देश दिया। इस दौरान नगर निगम क्षेत्र के वार्ड 29 एवं 30 में पेयजल आपूर्ति पिछले एक सप्ताह से नहीं किये जाने की शिकायत सामने आयी। उक्त वार्ड की महिलाओं ने नियमित जलापूर्ति कराने का अनुरोध किया। बताया गया कि मोटर खराब रहने के कारण जलापूर्ति बाधित है। उपायुक्त ने तत्काल नगर निगम के कार्यपालक पदाधिकारी को मोटर ठीक कराकर जलापूर्ति नियमित करने का निर्देश दिया। जनता दरबार में एक बीमार बृद्ध व्यक्ति ने बैटरी चालित ट्राई साईकिल दिये जाने का अनुरोध किया तो उपायुक्त ने गंभीरता दिखाते हुए जिला समाज कल्याण विभाग से सरकारी दिशा निर्देश प्राप्त करने का निर्देश देते हुए इलाज के लिए उक्त बीमार व्यक्ति को सिविज सर्जन कार्यालय से संपर्क स्थापित करने की सलाह दी। पाटन प्रखण्ड के महिलाओं द्वारा बृद्धावस्था पेंशन के लिए आवेदन दिया गया। इस पर भी उपायुक्त ने आवश्यक कार्रवाई का आश्वासन दिया। वहीं छतरपुर के रंधीर शर्मा ने लंबित छात्रवृति भुगतान एवं प्रज्ञा केन्द्र से जाति तथा स्थानीय प्रमाण पत्र निर्गत नहीं किये जाने से हो रही कठिनाई से डीसी को अवगत कराया। डीसी से संबंधित पदाधिकारियों को वैकल्पिक व्यवस्था करने के निर्देश दिये। जनता दरबार में लेस्लीगंज, मनातू, पाटन समेत अन्य प्रखण्डों से पहुंचे लोगों ने कई तरह की शिकायत की। जिसपर उपायुक्त ने संबंधित पदाधिकारियों को आवश्यक छानबीन कार्रवाई किये जाने का निर्देश दिये। मौके पर जन शिकायत कोषांग के प्रभारी सह कार्यपालक दंडाधिकारी सदा नुसरत, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी देवेन्द्र नाथ भादुड़ी एवं सहायक महेन्द्र कुमार आदि उपस्थित थे।