घूस लेते जमादार गिरफ्तार , वाहन रिलीज करने के नाम पर घूस मांग रहा था गढ़वा थाने का एएसआई, एसीबी ने दबोचा

            घूस लेते जमादार गिरफ्तार

वाहन रिलीज करने के नाम पर घूस मांग रहा था गढ़वा थाने का एएसआई, एसीबी ने दबोचा

मेदिनीनगर- पलामू एसीबी की टीम ने गढ़वा टाउन थाना में कार्यरत एएसआई हरेराम बेदिया को 6 हजार रूपये घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। जानकारी के अनुसार एएसआई हरेराम थाने से वाहन रिलीज करने के नाम पर रामधनी विश्वकर्मा से 15 हजार रूपये की घूस मांग रहा था। हुल-हिज्जत के बाद मामला 7 हजार रूपये पर फाइनल हुआ। रामधनी विश्वकर्मा घूस नहीं देना चाहते थे। उन्होंने इसकी शिकायत एसीबी में की। जिसके बाद श्री विश्वकर्मा के आवेदन पर मामला दर्ज करते हुए डीएसपी राजेंद्र दुबे के नेतृत्व में एसीबी की टीम ने गढ़़वा थाने में अपना जाल बिछाया और एएसआई हरे राम को 6 हजार रूपया लेते हुए दबोच लिया।

   फोरलेन के लिए सर्वे का कार्य ग्रामीणों ने रोका

विस्थापित होने वाले परिवारों को जमीन मुआवजा देने की मांग

पलामू- छतरपुर अनुमंडल क्षेत्र के मसीहानी के लोगों ने एनएच-98 मुख्य पथ को फोरलेन करने के लिए सर्वे करने गए आमीन और कर्मचारी को काम करने से रोक दिया। स्थानीय लोगों का कहना है कि एनएच-98 को फोरलेन करने में 25 से 30 घर के लोग विस्थापित हो जाएगे। जिनके पास रहने के लिए जमीन का एक टुकड़ा भी नहीं बचेगा। स्थानीय ग्रामीणों ने कहा कि जब तक विस्थापित होने वाले परिवारों को रहने की व्यवस्था नहीं कर दी जाती तब तक सर्वे का काम नहीं होने दिया जाएगा। विस्थापित होने वाले लोग पिछले 60 वर्ष से वहां रह रहे हैं। अधिकांश आदिवासी परिवार है। सूचना पाकर मौके पर पहुचे छतरपुर सीओ ने सर्वे का विरोध कर रहे लोगों को समझाते हुए कहा कि सड़क के फोरलेन किये जाने से विस्थापित होने वाले परिवारों को सरकार की ओर से जमीन दिया जाएगा। किसी परिवार को बेघर नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि वे इस मामले की जानकारी अपने