चेहल्लुम 31 को, निर्धारित मार्गों से निकलेगा पारंपरिक जुलूस

                                               चेहल्लुम 31 को, निर्धारित मार्गों से निकलेगा पारंपरिक जुलूस  

डालटनगंज, 29 अक्टूबर : मुहर्रम का चेहल्लुम आगामी 31 अक्टूबर को मनाया जायेगा। इस दिन पारंपरिक तरीके से जुलूस निकाला जायेगा। रविवार की शाम चांदनी रेस्ट हाउस में संपन्न मुहर्रम इंतजामिया कमिटी की बैठक में शांति पूर्वक ढंग से मनाने चेहल्लुम मनाने और जुलूस निकालने पर चर्चा हुई। बैठक की अध्यक्षता कमिटी के सरपरस्त जनाब राशिद अहमद सिद्दीकी ने की, जबकि संचालन इमामुद्दीन खां ने किया। 

मौके पर कमिटी के जेनरल खलीफा जिशान खान ने कहा कि चेहल्लुम का जुलूस पूरे उत्साह के साथ निकाला जायेगा। उन्होंने सभी हुसैनियों से जुलूस में शामिल होने का आग्रह किया। समयानुसार जुलूस निकालने और निर्धारित मार्गों से होते हुए जुलूस बैठाने में सहयोग की अपील की गयी।  

बैठक में अन्य लोगों के अलावा इजराइल आजाद, मुस्तफा कमाल, नेयाज अहमद, असगर अली, 

शकील खान, कलाम खान, वसीम खान, सुरखाब अली, मोख्तार हुसैन, नफीस खान, आदिल गनी, हिकमत्यार अली, कई खलीफा, आखाड़िया, ताजियादार भी मौजूद थे।


                                       खरीफ फसलों की हालत बदतर, जल्द हो प्रधानमंत्री फसल बीमा का भुगतानः रंजन  

पांकी, 29 अक्टूबर : कृषक मित्र संघ के पलामू जिला अध्यक्ष रंजन कुमार दुबे ने कहा कि पलामू जिले में खरीफ फसलों की हालत चिंताजनक है। धान की फसल करीब-करीब मारी गयी है, अन्य फसलें नुकसान के मुहाने पर खड़ी है। ऐसे में सरकार, संबंधित विभाग और बीमा कंपनी गिने-चुने पंचायतों में फसल बीमा का भुगतान करने की जिद छोड़े और पूरे जिले के किसानों को फसल बीमा का लाभ दिलाया जाए।

श्री दुबे रविवार को पांकी में कृषक मित्रों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। श्री दुबे ने कहा कि बीमा कंपनी द्वारा जिले की गिनी-चुनी पंचायतों में प्रधानमंत्री फसल बीमा के तहत क्षतिपूर्ति भुगतान का निर्णय लिया, लेकिन कई माह बीत जाने के बाद भी भुगतान नहीं हो पाया है। सभी पंचायतों में फसल बीमा की क्षतिपूर्ति राशि भुगतान कराने में प्रशासन और विभाग गंभीर नजर नहीं आता। कई इलाकों में रबी फसल के लिए किसानों के खेत तैयार हैं, लेकिन पैसे के अभाव में किसानों के हाथ-पांव फूल रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि किसानों के सारथी कृषक मित्रों के साथ अन्याय किया जा रहा है। पिछले आठ वर्ष से सेवा दे रहे कृषक मित्रों को मानदेय देने में सरकार आनाकानी कर रही है।    

बैठक की अध्यक्षता पांकी प्रखंड अध्यक्ष संतोष कुमार सिंह ने की, जबकि संचालन पांकी पूर्वी अध्यक्ष अयूब अंसारी ने किया। बैठक में कई अन्य बिंदुओं पर भी चर्चा की गयी। आत्मा, कृषि विभाग, भूमि संरक्षण, सहकारिता, उद्यान, मत्स्य विभाग की योजनाओं की समीक्षा की गयी। सभी विभागों द्वारा किसानों को छले जाने का आरोप लगाया गया।

बैठक में अन्य लोगों के अलावा प्रखंड सचिव श्रवन कुमार, गायत्री देवी, संजर नवाज, उमेश राम, अरुण चैहान, रंजीत सिंह, नागेश्वर राम, बच्चू राम, राकेश सिंह, राजू राणा, बिंदेश्वरी यादव, घनश्याम यादव, सीताराम, सुनील यादव, नसीर अंसारी, नागेंद्र सिंह सहित अन्य कृषक मित्र उपस्थित थे।