10 लाख का इनामी जेजेएमपी का जोनल कमांडर गिरफ्तार

10 लाख का इनामी जेजेएमपी का जोनल कमांडर गिरफ्तार

डालटनगंज: पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने रामगढ़ के कुटी मोड़ के पास नाकाबंदी कर जेजेएमपी के जोनल कमांडर छोटे लाल यादव उर्फ छोटे यादव को गिरफ्तार कर लिया है। उसका एक साथी अंधेरे का लाभ उठाकर भागने में सफल रहा। पलामू के पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत महथा ने बताया कि उन्हें रामगढ़ क्षेत्र में जेजेएमपी के उग्रवादी की गतिविधियों की जानकारी मिली थी। इसी आधार पर अपर पुलिस अधीक्षक (अभियान) के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया और रामगढ़, चैनपुर मार्ग पर कुटी मोड़ के पास सड़क की गुप्त नाकेबंदी की गयी। शाम करीब सात बजे एक मोटरसाइकिल पर सवार दो लोग उधर पहुंचे। उन्हें रूकने के लिए कहा गया तो वे मोटरसाइकिल पीछे मोड़कर भागने लगे। पुलिस उन्हें दौड़ाकर एक व्यक्ति को पकड़ लिया, जबकि दूसरा व्यक्ति अंधेरे का लाभ उठाकर भागने में सफल रहा। पूछताछ में पकड़े गए व्यक्ति ने अपना नाम छोटेलाल यादव बताया। उसने पुलिस को बताया कि वह उग्रवादी संगठन जेजेएमपी का जोनल कमांडर है। वह गढ़वा जिला के चिनिया थाना के डोल गांव का रहने वाला है। उसके खिलाफ चिनिया एवं भंडरिया थाना में एक दर्जन से अधिक मामला दर्ज है।

युवक की पीट-पीट हत्या, गोली मारने की घटना पर ग्रामीणों ने उतारा मौत के घाट 

डालटनगंज, 2 नवम्बर: पलामू जिले के हरिहरगंज थाना क्षेत्र के सरसोंत एकौनी गांव में माॅब लिचिंग की घटना सामने आयी है। शुक्रवार को दिनदहाड़े छेड़छाड़ का विरोध करने पर मिथिलेश यादव नामक युवक को गोली मारकर गंभीर कर दिया गया। गोली मारने के बाद भाग रहे आरोपी युवक को ग्रामीणों ने पकड़ लिया और उसकी जमकर पिटायी कर दी। इससे वह अधमरा हो गया। बाद में उसकी इलाज के दौरान मौत हो गयी। गोली लगने से घायल युवक को हरिहरगंज प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र से बिहार के गया रेफर कर दिया गया है।

जिले के पुलिस अधीक्षक इन्द्रजीत माहथा ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि मामला प्र्रेम प्रसंग से जुड़ा है। मामले की छानबीन की जा रही है। 

जानकारी के अनुसार हरिहरगंज के चैखटवा गांव से रामसुंदर यादव की पुत्र रंजू देवी अपने चचेरे देवर धीरेन्द्र यादव के साथ अपने मायके पररिया जा रही थी। एकौनी गांव में पहुंचने पर रंजू के साथ उसका देवर छेड़छाड़ करने लगा। इधर, रंजू के प्रेमी मिथिलेश यादव को सूचना मिली थी कि वह अपने ससुराल जा रही है। मिथिलेश रंजू के पीछे से आ रहा था। अचानक धीरेन्द्र को रंजू के साथ गलत हरकत करते देखकर उसने विरोध किया तो धीरेन्द्र मारपीट पर उतारू हो गया। 

मिथिलेश के साथ उसका दोस्त रामराज भी था। दोनों को भारी पड़ता देख धीरेन्द्र ने गोली चला दी। गोली मिथिलेश के आंख के समीप लगी। गोली चलने की सूचन मिलने पर स्थानीय ग्रामीण उग्र हो गए और धीरेन्द्र की पिटायी शुरू कर दी। हालांकि सूचना पर मौके पर पहुंचे हरिहरगंज थाना के एएसआई इन्द्रदेव राम ने किसी तरह भीड़ के बीच से धीरेन्द्र को बचाया और इलाज के लिए हरिहरगंज स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया। 

रंजू की दो वर्ष पूर्व पररिया निवासी निरंजन यादव से शादी हुई थी। रंजू का मिथिलेश के साथ पूर्व से प्रेम संबंध रहा था। रंजू का पति निरंजन बाहर रहकर काम करता है।


हक मांगने पर कठौतिया कंपनी के कर्मियों ने ग्रामीणों को धक्का देकर भगाया 

डालटनगंज, 2 नवम्बर: पलामू की एक मात्र कोल कंपनी कठौतिया कोल माइंस के खिलाफ आज पंडवा प्रखंड अंतर्गत सिक्का गांव के ग्रामीणों ने उत्खनन क्षेत्र में पहुंचकर जोरदार प्रदर्शन किया। कोल कंपनी के खिलाफ वादखिलाफी का आरोप लगाया गया। कंपनी के कर्मी ग्रामीणों की समस्या सुनने के बजाए उन्हें धक्का देकर वहां से भगा दिया। 

सिक्का के ग्रामीण चिंटू यादव, राहुल रंजन प्रजापति, पंसस पंकज शर्मा, राजीव रंजन सिंह, सुबोध सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि गांव में दैनिक समस्याओं का घोर अभाव है। बिजली, पानी, सड़क, चिकित्सा सेवा के लिए लोग तरसते हैं। कोयल उत्खनन के लिए जिन लोगों की जमीन कंपनी द्वारा ली गयी है, उन्हें रोजगार तक नहीं दिया जा रहा है। 

आज जब प्रदर्शन करते हुए कंपनी के पदाधिकारियों से बात करने की कोशिश की गयी तो उल्टे उन्हें वहां से धक्का देकर भगा दिया गया। उनकी समस्याओं के समाधान न करके उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है। 

जूनियर इंजीनियर गिरफ्तार, सात हजार रूपये ले रहा था घूस 

डालटनगंज, 2 नवंबर: भ्रष्टाचार के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत पलामू एसीबी की टीम ने शुक्रवार को लातेहार जिले के महुआडांड प्रखंड में कार्यरत मनरेगा के जेई प्रमोद कुमार को सात हजार रूपये रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया। जेई ने पीसीसी सड़क निर्माण में एमबी बुक कराने के एवज में सात हजार रूपये रिश्वत की मांग की थी। 

आज सुबह सड़क के निर्माणकर्ता प्रदीप नगेशिया ने रिश्वत की रकम देने के लिए जेई को फोन किया। जेई ने प्रदीप को पार्वती रेस्ट हाउस में पहुंचने को कहा। जेई के पार्वती रेस्ट हाउस पहुंचने पर प्रदीप ने जैसे ही जेई प्रमोद के हाथों में कैमिकल्स लगा सात हजार रूपये दिये, वैसे ही पहले से मौके पर मौजूद एसीबी टीम के सदस्यों ने रंगे हाथ दबोच लिया। बाद में एसीबी की टीम प्रमोद को हिरासत में लेकर पूछताछ के लिए प्रमंडलीय मुख्यालय डालटनगंज स्थित एसीबी कार्यालय ले आयी। 

जानकारी के अनुसार प्रमोद नगेसिया ने महुआड़ाड प्रखंड में मनरेगा के तहत सड़क स्वीकृत कराया था। सड़क की प्राक्कलित राशि दो लाख 48 हजार 700 रूपये थी। सड़क निर्माण के लिए पूूर्व में 67 हजार 500 रूपये की निकासी हो चुकी थी। बाद में जेई ने एमबी बुक कराने के नाम पर प्रदीप से सात हजार रूपये बतौर रिश्वत की मांग की। रिश्वत की पैसा नहीं देने पर जेई प्रमोद को एमबी बुक कराने के लिए बार-बार कार्यालय दोड़ा रहा था। बाद में प्रदीप ने थक कर इसकी शिकायत एसीबी की टीम से किया। एसीबी की टीम ने शिकायतकर्ता के सभी बिंदुओं की सत्यता की जांच के बाद टीम का गठन कर कार्रवाई की। 

दिलीप कुमार, पलामू 2.11.18