रात में दो घंटे तक पटाखा छोड़ने की सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर प्रशासन की पैनी नजर ,चुस्त व दुरूस्त प्रशासन मिलेगा पलामू को: डीसी

रात में दो घंटे तक पटाखा छोड़ने की सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर प्रशासन की पैनी नजर ,चुस्त व दुरूस्त प्रशासन मिलेगा पलामू को: डीसी

आठ सप्ताह के अंदर चपरासी बहाली होगा पूरा ,भूख से नहीं मरने दिया जायेगा किसी को ,सरकारी स्कूलों में मध्याहन भोजन बंद हुआ तो नपेंगे स्कूल के प्रिंसिपल

पेंशन के निपटारे के लिए अंचलाधिकारी करेंगे त्वरित कार्रवाई  ,शांति समिति को नियमित व उसमें और लोगों को जोड़ने की जरूरत

मेदिनीनगर। पलामू के नवपदग्रहित युवा उपायुक्त डाॅं. शांतनु कुमार अग्रहरि ने आज अपने पहले प्रेस काॅन्फ्रेंस में पलामूवासियों को यह विश्वास दिलाया कि पलामू को चुस्त और दुरूस्त प्रशासन हर हाल में मिलेगा। सरकारी स्कीम किसी भी कीमत पर जिले के किसी भी प्रखण्ड और पंचायत में फेल नहीं हो, इसी की तैयारी में जिला प्रशासन मुस्तैदी से जुटा हुआ है। पलामू में अनाज के बगैर कोई भूख से न मरे, इसपर प्रशासन की उत्कृष्ट दृष्टि बनी हुई है। प्रशासन ने इसके लिए प्रखण्ड स्तर पर आपातकालीन कोष का निर्माण किया है। प्रखण्ड कार्यालय में 10 हजार रुपये हमेशा स्थायी रूप से रहेंगे कि जब किसी के साथ भूखमरी जैसी स्थिति उत्पन्न हो तो प्रखण्ड के अध्ािकारी त्वरित कार्रवाई करते हुए सबसे पहले प्रभावित परिवार को 10 हजार रुपया मुहैया करा दे। डीसी श्री अग्रहरि ने कहा कि सुखाड़ को देखते हुए 21 प्रखण्डों के सभी राजस्व ग्रामांे में फसलों की स्थिति का जायजा लेने के लिए टीम गठित की गयी है। टीम द्वारा इन गांवों के पांच प्लाॅट में लगे फसलों के संबंध में जानकारी प्राप्त की जायेगी। इस टीम को स्टेज वाइज फसलों का जायजा लेने के लिए निर्देश दिया गया है। उपायुक्त ने यह भी कहा कि छतरपुर-पाटन-हरिहरगंज और विश्रामपुर प्रखण्ड में जायजा लेने के लिए फसलों के आच्छादन के साथ-साथ उसकी नमी की स्थिति का भी आंकलन करेगी। उपायुक्त ने चापानलो की मरम्मति और आवश्यकतानुसार नए चापानल को लगाने के लिए भी कई योजना बनायी है। डीसी अग्रहरि ने कहा कि पेंशन के लिए अंचल पदाधिकारी के कार्यलय को विशेष रूप से माॅनिटरिंग करने के लिए जिम्मेवारी दी जा रही है, ताकि पेंशन का एक भी आवेदन लंबित न रहे। बहरहाल, डाटा इंट्री के अभाव में लंबित दो हजार पेंशन में से 1500 पेंशन का कागजी काम पूरा कर लिया गया है और शेष 500 पेंशन का काम छठ के बाद तक पूरा कर लिया जायेगा।

उपायुक्त ने जिले में शांति-सौहार्द पर खतरे के बादल न मंडराये, इसके लिए भी कहा कि प्रशासन इसे प्राथमिकता के आधार पर देखेगी। डीसी ने सांप्रदायिक सौहार्द को बरकरार रखने के लिए शांति समिति की नियमित बैठक की परिपार्टी शुरू करने पर बल दिया है और इस शंाति समिति में निरंतर नए सदस्यों को जोड़कर शांति समिति को मजबूत बनाने की बात कही है। डीसी अग्रहरि ने कहा कि इसके लिए उनके द्वारा तैयारी की जा रही है कि कैसे बेहतर लोक प्रशासन एवं सांप्रदायिक सद्भाव को बनायी रखी जा सकें। डीसी ने पलामू में कानून के राज की सम्मान करने का लोगों से अपील करते हुए कहा कि माननीय सुप्रीम कोर्ट ने दीपावली के दिन रात्रि आठ से दस बजे तक यानी कुल दो घंटे पटाखे छोड़ने की छूट का आदेश दिया है, जिसका सर्वथा पालन सुनिश्चित करना आम नागरिकों का कर्तव्य है तो इस आदेश का पालन कराना प्रशासन का दायित्व है। डीसी ने कहा कि दीपावली के दिन शक्तिशाली पटाखों का छोड़ा जाना भी वर्जित रहेगा। प्रशासन इसपर विशेष ध्यान देते हुए पटाखा बेचने वालों को लाइसेंस देकर एक ही कैम्पस में दुकान खोलने की अनुमति दी है। 

पलामू के उपायुक्त डाॅ. अग्रहरि ने एक महत्त्वपूर्ण सवाल का जवाब देते हुए कहा कि माननीय झारखण्ड हाईकोर्ट के आदेश के आलोक में 12 हफ्तों में से बचे आठ हफ्तों के अंदर चपरासी बहाली की शेष प्रक्रिया को पूरा करते हुए घोषित पद के पक्ष में सभी चपरासी पद पर योग्यता एवं प्राप्तांक के आधार पर चयनित अभ्यर्थियों को बहाल कर चपरासी बहाली को अंतिम रूप दे दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि इस बावत वे हाईकोर्ट के आदेश और सरकार के नियुक्ति प्रक्रिया में कार्मिक विभाग द्वारा जारी संकल्प का अनुपालन करते हुए चपरासी पद की बहाली को अंतिम रूप देंगे।