दूसरों को खुशी देकर खुश रहे, इसी में पर्व की महता: अविनाश ,आॅक्सफोर्ड में दीपावली पर लोक संगीत और रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन , पलामू-गढ़वा को सुखाड़ क्षेत्र घोषित करने की मांग

                                      दूसरों को खुशी देकर खुश रहे, इसी में पर्व की महता: अविनाश 

चैनपुर, 6 नवम्बर (थर्ड आई): दायित्व ट्रस्ट द्वारा संचालित एसवीडी पब्लिक स्कूल में दीपावली के अवसर पर सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं एवं सहकर्मियों के बीच उपहार स्वरूप मिट्टी की कड़ाही, दीये एवं मिठाई बांटे गए। 

इस मौके पर विद्यालय के निदेशक अविनाश वर्मा ने सबांे को दीपावली की बधाई देते हुए बच्चों को बम-पटाखों से परहेज करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि प्रशासन का आग्रह है कि रात आठ बजे से 10 बजे तक ही आतिशबाजी करें को हर हाल में माने। उन्होंने कहा कि दीपावली खुशियों का त्योहार है। दूसरों को खुशी देकर खुश रहे, इसी में पर्व की महत्ता है। 

श्री वर्मा ने कहा कि विद्यालय से मिले उपहार इस बात के प्रतीक हैं कि हम मिट्टी के बर्तनों का उपयोग करें, ताकि समाज के अंतिम पायदान पर खड़े होकर मिट्टी के बर्तन बनाने वाले कलाकारों की आर्थिक स्थिति ठीक हो सके। वे सशक्त होकर समाज की मुख्यधारा में जुड़े रहे। मौके पर शिक्षक-शिक्षिकाओं के अलावा छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।   

                                 पलामू-गढ़वा को सुखाड़ क्षेत्र घोषित करने की मांग 

डालटनगंज, 6 नवम्बर : अल्पवृष्टि से खरीफ फसलों को हुए नुकसान के बाद पलामू प्रमंडल में सूखे की स्थिति उत्पन्न हो गयी है। फसलों के नुकसान की भरपाई और रोजगार के नये साधन विकसित करने की मांग तेज हो गयी है। विपक्ष के राजनीतिक दलों ने इस मुद्दे को जोर-शोर से उठाना शुरू कर दिया है।  

इसी कड़ी में सीपीआई के पूर्व झारखंड राज्य सचिव केडी सिंह, कांग्रेस पार्टी एससी विभाग के राज्य सचिव गणेश रवि, कांग्रेसी नेता उमेश भाई गुप्ता, रामप्रवेश सिंह ने पलामू प्रमंडल को सूखा क्षेत्र घोषित करने की मांग की है। नेताओं ने कहा कि पलामू प्रमंडल खास करके गढ़वा एवं पलामू जिले के सभी गांवों में सूखाड़ की स्थिति हो गई है। इससे किसानों में मायूसी छाई हुई है।

नेताओं ने कहा कि सरकार को अविलंब एक्शन लेते हुए पलामू एवं गढ़वा को सूखा क्षेत्र घोषित कर देना चाहिए और राहत कार्य शुरू हो जाना चाहिए। पानी की कमी के कारण धान की खेती पूरी तरह से सूख रही है। ऐसे में सरकार को चाहिए कि डीजल कम कीमत पर किसानों को उपलब्ध करायी जाए। साथ ही रोजगार के अवसर मुहैया कराए जाएं। नेताओं ने कहा कि सुखाड़ की स्थिति को देखते हुए किसानों और मजदूरों में भूखे मरने की स्थिति पैदा हो गयी है और वे रोजगार की तलाश में पलायन करने पर विवश हैं। 

                                                              लिलिपुट और कैटमाॅस में दिवाली महोत्सव की रही धूम 

डालटनगंज, 6 नवम्बर : भगवान श्रीराम के लंका जीतने के बाद अपने घर अयोध्या लौट जाने की खुशी में मनाया जाना वाला रौशनी का त्योहार दीपावली बुधवार को मनाया जायेगा, लेकिन इससे पूर्व स्कूलों में मंगलवार को दिवाली महोत्सव का आयोजन किया गया। बच्चों से इको फ्रेंडली दिपावली मनाने का आग्रह किया गया, ताकि हर तरह के नुकसान से बचा जा सके। 

शहर के नावाटोली स्थित लिलिपुट स्कूल में दिवाली महोत्सव हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस मौके पर स्कूल को रंगोली, दीपों, झूमर, कंदील एवं गुब्बारों से सजाया गया था। कार्यक्रम के दौरान बच्चों ने हाथों से दीये जलाकर खूब मौज-मस्ती की। 

मौके पर स्कूल की प्राचार्य श्रीमती रेणु गोयल ने बच्चों को इको-फ्रेंडली दिवाली मनाने का संदेश देते हुए कहा कि हमें पटाखे छोड़ने से परहेज करना चाहिए, ताकि वातावरण और पशु-पक्षियों को कोई नुकसान न पहुंचे। डायरेक्टर राजीव गोयल ने दिवाली पर्व के बारे में बच्चों को विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बच्चों को आतिशबाजी करने के बजाए दीये एवं मोमबती जलाकर दीपावली मनाने का आग्रह किया। अभिभावकों से आग्रह किया गया कि एक दीया सैनिकों के नाम भी जलाए, जो हमारी रक्षा के लिए सरहद पर खड़े रहते हैं। 

कार्यक्रम को सफल बनाने में मनीत बग्गा, नैना अग्रवाल, अश्विनी कुमार, आरती सिंह, कांची, मुस्कान, उजाला, रचना, निशु, भारती की सराहनीय भूमिका रही।

इधर, चर्च रोड स्थित कैटमाॅस प्ले स्कूल में दीपावली महोत्सव के दौरान बच्चों और शिक्षकों द्वारा आकर्षक रंगोली सजायी गयी। रंगोली के पास बैठककर दीये और मोमबती जलाकर दीपावली सेलिब्रेट की गयी। स्कूल की शिक्षिकों ने बच्चों को बताया गया कि दीये और मोमबती जलाने में भी सावधानी बरते। पटाखे नहीं छोड़े। पटाखों के फोड़ने से जहां प्रदूषण के बढ़ने का खतरा बना रहता है, वहीं अनहोनी भी हो जाती है। 

                   कार्यक्रम के दौरान बच्चों के बीच फूलझड़ी और मिठाई का वितरण किया गया और पटाखों की जगह बैलून फोड़े गये।   

                               आॅक्सफोर्ड में दीपावली पर लोक संगीत और रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन

                                   अंधकार को दूर कर रौशनी फैलाने की सीख देती है दीपावली: प्राचार्य 

चैनपुर, 6 नवम्बर : शाहपुर के न्यू टाउनशीप स्थित आॅक्सफोर्ड पब्लिक स्कूल में दीपावली पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर विद्यार्थियों ने रंगारंग कार्यक्रम एवं लोक संगीत प्रस्तुत किया। तत्पश्चात् रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। 

सर्वप्रथम विद्यालय के चारों सदन के विद्यार्थियों ने लोक संगीत प्रस्तुत किया, जिसमें शेक्सपीयर सदन से प्रशांत चैरसिया (कक्षा सात) एवं बायरन सदन से आदित्य राज (कक्षा छह) ने प्रथम स्थान, इलियट सदन से अर्पिता (कक्षा सात) एवं कीट्स सदन से आस्था शर्मा (कक्षा चार) ने द्वितीय स्थान तथा इलियट सदन से युवराज सिंह (कक्षा आठ) एवं अनंत राज (कक्षा छह) ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। 

तत्पश्चात् विद्यालय के चारों सदन के विद्यार्थियों ने रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें ग्रुप ए (कक्षा प्रथम से तृतीय) बायरन सदन प्रथम स्थान, इलियट सदन द्वितीय स्थान तथा कीट्स एवं शेक्सपीयर सदन तृतीय स्थान पर रहे। इसी प्रकार ग्रुप बी में (कक्षा चतुर्थ से अष्टम) इलियट एवं शेक्सपीयर सदन प्रथम स्थान, बायरन सदन द्वितीय स्थान तथा कीट्स सदन तृतीय स्थान पर रहे। प्री-नर्सरी से प्रेप तक के विद्यार्थियों ने सैंडविच पार्टी का आयोजन किया, जिसमें विद्यार्थियों ने सैंडविच बनाने का सामान जैसे-प्याज, टमाटर, बे्रड, चीज आदि लेकर आए और स्वयं सैंडविच बनाकर और खाकर आनंद लिए। 

मौके पर विद्यालय के प्राचार्य डा. ए.के. सिंह ने दीपावली पर शुभकामनाएं देते हुए कहा कि जिस प्रकार दीया अंधेरे को समाप्त कर प्रकाश देता है, ठीक उसी प्रकार आप सभी के जीवन में भी अंधकार का नाश हो तथा प्रकाश ही प्रकाश हो। 

कार्यक्रम को सफल बनाने में विद्यालय के शिक्षक एवं शिक्षिकाएं कुमार गौरव, अंशु ठाकुर, नबेन्दु दास, सुमन दरिपा, नंददुलाल राॅय, रवि कुमार, राजा सिन्हा, अमल घोष, मुकेश कुमार सिंह गरिमा चंद्रा, महिमा चंद्रा, प्रज्ञा आनंद, खुशबू कुमारी, ममता कुमारी, आरती सिंह, दीप्ति चैबे, नीलिमा मिश्रा, पूजा कुमारी, तृषा भूषण, रीतू रानी, नसरीन बानो, रानी गुप्ता तथा शालिनी कुमारी का सराहनीय योगदान रहा।