जनाधार खिसकता देख सरकार बौखलाहट मे निहत्थे पारा शिक्षकों मीडियाकर्मीयों पर बरसा रही है लाठी : CPIM


जनाधार खिसकता देख सरकार बौखलाहट मे निहत्थे पारा शिक्षकों मीडियाकर्मीयों पर बरसा रही है लाठी : CPIM


लातेहार : रांची मोरहाबादी मैदान में पारा शिक्षकों व मीडिया कर्मियों पर हुई लाठी चार्ज की CPIM ने कड़ी निंदा की है,

पार्टी के वरिष्ठ नेता अयुब खान, जिला सचिव सुरेंद्र सिंह ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि भाजपा के रघुवर सरकार अब पूरी तरह गुंडागर्दी कर रही है, राज्य स्थापना दिवस समारोह के दौरान अपने हक-अधिकार की मांग कर रहे निहत्थे पारा शिक्षक और समाचार संकलन कर रहे मीडियाकर्मियों पर राज्य सरकार द्वारा कराये गये लाठीचार्ज की घोर भर्त्सना करते हैं, राज्य मे लगातार खिसक रही जनाधार से बौखलाकर भाजपा नेतृत्व वाली रघुवर दास सरकार ने लाठी चार्ज कर बर्बर और आमानवीय कार्यवाई की है, इसे ही कहते हैं विनाशकाले विपरीत बुद्धि, 

शांति पुर्वक विरोध-प्रदर्शन कर रहे पारा शिक्षकों पर लाठियां बरसाना उचित नही है, सरकार ने पारा शिक्षकों, मीडियाकर्मियों के साथ जो सलूक किया है वह काफी दुर्भाग्यपुर्ण है, सरकार दफन होने के लिए कब्र खुद खोद रही है,

भाजपा के शासनकाल में झारखंड ही नहीं पुरे देश में अधिकार के लिए आवाज बुलंद करना अपराध हो गया है, पारा शिक्षकों की मांगे जायज है, वे तो समान काम का समान वेतन की मांग करते हुए अपने स्थायीकरण की मांग कर रहे हैं, जब भाजपा शासित प्रदेशों में पारा शिक्षकों की सेवा स्थायी की गई है तो झारखंड में क्यों नहीं, असल मे सरकार की मंशा शिक्षकों के प्रति ठीक नहीं है, राज्य की जनता इन्हें लोकसभा और विधानसभा चुनाव में सबक सिखाने के लिए तैयार बैठी है, 

पार्टी ने पारा शिक्षकों को स्थायीकरण करने, समान काम का समान वेतन देने, लाठी चलाने वाले पुलिसकर्मीयों पर तथा इसकी अनुमति देनेवाले अधिकारीयों पर कार्यवाई करने, घायल पारा शिक्षकों व मीडिया कर्मीयों को सरकारी खर्च पर ईलाज कराने और छतीपुर्ती की भरपाई की मॉग राज्यपाल से की गई है!