मेदिनीनगर पुलिस स्टेडियम में प्रमण्डल स्तरीय कृषक सम्मेलन सम्पन्न ,मुख्यमंत्री ने 238.88 करोड़ की योजनाओं का किया शिलान्यास

मेदिनीनगर पुलिस स्टेडियम में प्रमण्डल स्तरीय कृषक सम्मेलन सम्पन्न ,मुख्यमंत्री ने 238.88 करोड़ की योजनाओं का किया शिलान्यास

                                                      47.03 करोड़ की योजनाओं का उद्घाटन  

माननीय मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहा की झारखण्ड सरकार ‘‘सबका साथ सबका विकास‘‘ की अवधारणा पर कार्य कर रही है। आप का विश्वास आप का भरोसा ही मेरा ताकत है। जनता की उम्मीदों पर खरा उतरना ही हमारी सरकार का एक मात्र उद्देश्य है। सरकार समाज के अन्तिम व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ पहुँचाने के लिए कटिबद्ध है। 

सुखा सर्वेक्षण के आधार पर पलामू, गढ़वा तथा लातेहार के प्रखण्डों का चयन किया गया है। राज्य में सर्वाधिक सुखाड़ से प्रभावित पलामू प्रमण्डल में किसानो को फसल बीमा का लाभ पहुँचाने के लिए प्रमण्डलीय मुख्यालय मेदिनीनगर में कृषक सम्मेलन का आयोजन किया गया है। राज्य सरकार ने सुखाड़ को देखते हुए 03 तरह के राहत पैकेज की घोषण की है। किसानों को फसल बीमा मुफ्त तथा 90 प्रतिशत अनुदान पर बीज दिया जाएगा। कृषि, पशुपालन, गव्य विकास और मत्स्य पालन के माध्यम से किसानो के कल्याण के लिए सरकार की वृहद योजना है। पुरे राज्य में सखी मण्डल के माध्यम से पशुपालन को बढ़ावा दिया जाएगा। 

उन्होने कहा की किसानों को कम पानी से अधिक पैदावार करने का प्रशिक्षण देने के लिए राज्य सरकार द्वारा 52 किसानों को आॅरगेनिक कृषि तकनिक में प्रशिक्षण के लिए ईजराईल भेजा गया था। इसमें पलामू के भी तीन किसान शामिल थे। इन किसानों ने ईजराईल में कम पानी से कैसे खेत को हरा भरा किया जा सकता है। बागवानी के माध्यम से किसान कैसे अपना रोजगार बढा़ सकते है इसका प्रशिक्षण दिया गया है। उन्होने कहा की प्रशिक्षित किसान अपने क्षेत्र में उन्नत तकनिक का प्रयोग करें। मुख्यमंत्री ने 29 व 30 नवम्बर को राँची में आयोजित वैश्विक कृषि सम्मेलन मे सहभागिता के लिए पुरे पलामू प्रमण्डल के किसानों को आमंत्रित किया। उन्होने कहा की कृषि वैश्विक सम्मेलन में 07 देशों के किसान राँची में एकत्रित होगें। इस सम्मेलन में किसानों को आॅगेनिक खेती तथा बागवानी पर विशेष जानकारी मिलेगी। उन्होने कहा की कृषि के साथ ही पशुपालन एवं मत्स्य पालन के माध्यम से गांव को आर्थिक रूप से समृद्ध किया जा सकता है। अंण्डा, मांस का उत्पादन बढ़ाने के लिए मुर्गी पालन, पशु पालन का कार्य सखी मण्डल के माध्यम से किया जाएगा। 

मुख्यमंत्री ने कहा की गाँव से ही झारखण्ड की संस्कृति समृद्ध है। इस अवसर पर उन्होने पलामू के 22 टाना भगत परिवारों को प्रधानमंत्री आवास आवंटित करने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने कहा की विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना आयुष्यमान भारत का आगाज झारखण्ड से ही किया गया। इस योजना के तहत 57 लाख परिवारों को स्वास्थ्य बीमा के माध्यम से ईलाज की सुविधा मुहैया कराई जा रही है। 

कृषक सम्मेलन को पलामू के सांसद विष्णु दयाल राम ने भी सम्बोधित किया। उन्होने कहा की राज्य सरकार द्वारा पलामू को सुखा ग्रस्त घोषित कर किसानों के हीत में लिया गया निर्णय बहुत ही सराहनिय है। इससे प्रभावित किसान तथा उनके परिवार को लाभ होगा। 

सम्मेलन को कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता विभाग के सचिव पुजा सिंघल ने भी सम्बोधित किया। प्रमण्डलीय आयुक्त मनोज कुमार झा ने स्वागत भाषण तथा उपायुक्त पलामू डाॅ0 शातनु कुमार अग्रहरि द्वारा धन्यावाद ज्ञापन किया गया।