पारा शिक्षकों की बैठक में विधायको का आवास घेरने का निर्णय।

                                           पारा शिक्षकों की बैठक में विधायको का आवास घेरने का निर्णय।

पलामू -कन्या मध्य विद्यालय हुसैनाबाद के प्रांगण में हुसैनाबाद, हैदर नगर, मोहम्मद गंज प्रखंड के एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा की संयुक्त बैठक हुई। इस बैठक की अध्यक्षता हुसैनाबाद प्रखंड के प्रखंड अध्यक्ष पप्पू पटेल ने की।  मुख्य अतिथि के रूप में जिला अध्यक्ष मनोज कुमार सिंह  उपस्थित हुए। मौके पर जिलाध्यक्ष मनोज कुमार सिंह ने कहा कि सरकार को हमारी माँगों को मानना ही होगा, क्योंकि हमारी माँगें जायज़ हैं, वहीं हुसैनाबाद प्रखंड अध्यक्ष पप्पू पटेल ने कहा कि अगर रघुवर सरकार हमारे साथियों को बाइज़्ज़त रिहा नहीं करती है, तो कल को हमारा आंदोलन और भी उग्र रूप लेगा। आगे उन्होंने कहा कि अपनी मांगों को सरकार के समक्ष रखना हमारा संविधानिक अधिकार है जिसे सरकार की दमन नीति दबा नहीं सकती। इस बैठक में पिछले आंदोलन की समीक्षा की गई। इस बैठक में सरकार द्वारा संसदीय परंपरा के अनुरूप आंदोलनरत पारा शिक्षकों पर अमानवीय रूप से यातना देकर जेल भेजने तथा अष्ट मण्डलीय कमेटी के सभी अगुआ साथी को जेल भेजने पर मुख्यमंत्री रघुवर दास की घोर निंदा की गई। इस बैठक में चट्टानी एकता का परिचय देते हुए आंदोलन जारी रखने का निर्णय लिया गया। इस बैठक में पारा शिक्षकों से 26 नवम्बर 2018 को विधानसभा में भाजपा के सचेतक माननीय विधायक राधा कृष्ण किशोर के आवास के सामने धरना प्रदर्शन हेतु विशाल सभा करने का निर्णय लिया गया। साथ हीं अपने क्षेत्र के विधायक के आवास के घेराव हेतु भी महत्त्वपूर्ण निर्णय पर आम सहमति बनी। इस सभा का संचालन बृजमोहन मेहता ने किया। इस बैठक में प्रखंड अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह, अरुण कुमार सिंह, सुनील पाठक, रंजीत सिंह, चंद्रमौलेश्वर, मोहम्मद गंज प्रखंड अध्यक्ष बद्री प्रसाद, सुनील यादव, वंदना कुमारी, शाहीन कमर, सबा जुनैद, हुसैनाबाद सचिव मनोज सिंह, कोषाध्यक्ष अरुण सिंह, मोहम्मद इरफान, शंभू शरण सिंह, अनिल कुमार, अभिषेक कुमार सिंह, दिलीप भगत, जितेंद्र भगत, विनय कुमार शर्मा, अभिषेक शर्मा, कृष्णा कुमार राम, संतोष अग्रवाल, अविनाश कुमार सिन्हा, सुदामा सिंह, अनिता कुमारी, सुनीता भगत, अमारीक भगत आदि पारा शिक्षक एवं शिक्षिकाएँ शामिल थीं।