नक्सलियों के खिलाफ सर्च अभियान में सुरक्षा बलों को बड़ी सफलता ,हथियार व बिस्फोटकों का जखीरा बरामद

नक्सलियों के खिलाफ सर्च अभियान में सुरक्षा बलों को बड़ी सफलता

      हथियार व बिस्फोटकों का जखीरा बरामद

मेदिनीनगर: पलामू के पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत महथा को मिली गुप्त सूचना के आधार पर सीआरपीएफ 134 बटालियन एवं जिला पुलिस बल द्वारा संयुक्त रूप से हरिहरगंज के नक्सल प्रभावित जगदीशपुर में नक्सलियों के खिलाफ सर्च आॅपरेशन चलाया गया। इस दौरान जगदीशपुर के पश्चिमी जंगली क्षेत्र में कोठिला-कुल्हिया पहाड़ की ढलान पर स्थित दरार से बड़ी संख्या में हथियार व बिस्फोटक बरामद किये गए। एसपी श्री महथा के अनुसार बरामद हथियार व बिस्फोटक माओवादियों द्वारा छुपाकर रखे गए थे। बरामद हथियारों में 315 बोर का तीन राईफल, 12 बोर का एक नाली, एक राईफल, 12 बोर का दो नाली, तीन राईफल, दो देसी कट्टा, दो डेटोनेटर, 50 मीटर कोडेक वायर, 100 ग्राम का जेलीटिन पाऊडर 85 पैकेेट एवं सात नक्सल फोटो, दो यूनिफार्म एवं एक बैनर शामिल हैं।

घर में घुसकर महिला के साथ की जबरदस्ती तो ग्रामीणों ने पीट-पीटकर नक्सली को मार डाला

मेदिनीनगर: जिले के पांकी थाना के इरगु गांव में गुरुवार की रात ग्रामीणों ने एक शख्स को पीट-पीटकर मार डाला, जबकि मृतक का एक दूसरा साथी ग्रामीणों के चंगुल से भागने में सफल रहा। ग्रामीणों द्वारा मारे गए शख्स की पहचान उसी गांव के रामपाल सिंह उर्फ अनिल सिंह के रूप में हुई है। वह जेजेएमपी का नक्सली बताया जाता है। वहीं भागने वाले शख्स की पहचान उसी गांव के सत्येन्द्र उरांव के रूप में की गयी है। घटना की जानकारी के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है। पीड़िता के बयान के आधार पर मामला दर्ज कर पुलिस कई बिन्दुओं पर अनुसंधान कर रही है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार जेजेएमपी का नक्सली अनिल अपने साथी सत्येन्द्र के साथ रंगदारी मांगने को लेकर बिरबल उरांव के घर में घुस गया था। घर में कोई पुरूष सदस्य नहीं था। अनिल ने घर को अंदर से बंद कर बिरबल की पत्नी के साथ जबरदस्ती करते हुए दुष्कर्म की नियत से उसकी साड़ी खोल दिया। पीड़िता व उसकी दो ननदें अनिल का विरोध करते हुए उससे उलझ गयी और शोर मचाना शुरू कर दिया। आवाज सुनकर बिरबल के गोतिया के लोग वहां पहुंच गए और अपने घर की महिलाओं पर यौन हमला देख उतेजित हो गए। परिजनों ने अनिल को पकड़कर उसकी बुरी तरह पिटाई की, जिससे उसकी मौत हो गयी। वहीं सत्येन्द्र भागने मंे सफल रहा।