सेमरी गांव में दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। जहां एक महिला की हत्या फांसी लगाकर कर दी

संतोष दुबे रोहतास। जिले के शिवसागर थाना क्षेत्र के अंतर्गत सेमरी गांव में दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। जहां एक महिला की हत्या फांसी लगाने के बाद हो गई।

मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना एक बार फिर से सामने आई है। जहां शिवसागर थाना क्षेत्र के अंतर्गत सेमरी गांव के रहने वाली 35 वर्षीय चंदा देवी की मौत फांसी लगाने के बाद हो गई।महिला की शादी तकरीबन 12 साल पहले सेमरी गांव के ही रहने वाले जयप्रकाश से हुई थी। वही  मृतका के  जीजा रवि कुमार ने   ससुराल वालों पर आरोप लगाया कि पति के ना रहने के बाद ससुराल में मौजूद सास ससुर और देवर के द्वारा लड़की को बराबर प्रताड़ित किया जाता था। जिसकी शिकायत व कई बार अपने घर वालों को भी कर चुकी थी। उसके बावजूद भी ससुराल वाले उस को प्रताड़ित करते रहते थे। लिहाजा परिवार वालों ने आरोप लगाया कि सास ससुर और देवर उनकी बेटी को फांसी लगाकर जान से मार दिया। वहीं इस घटना की सूचना लड़की के परिवार वालों को दिया गया। जिसके बाद आनन-फानन में लड़की के परिवार वाले ससुराल पहुंचकर इसकी सूचना शिवसागर थाने को दिया। लिहाज़ा सूचना मिलते ही शिवसागर थाना पूरे दलबल के साथ सिमरी गांव पहुंचकर महिला का शव अपने कब्जे में ले लिया। जिसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए सासाराम के सदर अस्पताल में भेजा दिया। जानकारी के मुताबिक महिला अपने पीछे दो बच्चे को छोड़कर इस दुनिया से हमेशा के लिए चली गई। वहीं पति कमाने के लिए बाहर रहता है ऐसे में पति के ना होने से पत्नी की मौत के बाद कई सवाल खड़े हो रहे हैं।

  • लिहाज़ा इस घटना के बाद पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है। फिलहाल पुलिस कुछ भी कहने से बच रही

मामला ऑनर किनल का लग रहा है जैसे कि परिजनों का कहना है कि हत्या का मामला है गौरतलब है कि लड़की अपने से फांसी लगाई है या उनके ससुराल वाले उन्हें फांसी देकर मार डाले हैं मामला संज्ञान में अब तक नहीं हो पाया है वहीं परिजनों का कहना है कि उनके पति फिलहाल बाहर गए हुए थे वही सास ससुर और देवर पर कड़ी निंदा जताते हुए हत्या का मामला सामने आया है फिलहाल पुलिस इस घटना को लेकर जांच में जुटी हुई है आपको बताते चलें कि दहेज को लेकर सुशासन बाबू पता ना बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ लेकिन अब तक न तो बेटी इनके शासन में सुरक्षित महसूस कर पा रही है वहीं नीतीश कुमार का दावा है कि बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ के नारे सुशासन बाबू का कहना है कि अब तक बेटी कहीं भी सुरक्षित महसूस नहीं कर पा रहे हैं वही इस संदर्भ में देखा जाए तो आए दिन हत्या बलात्कार जैसी घटनाएं लगातार होती रहती है फिर भी सुशासन बाबू अब तक इस पर चुप्पी साधे हुए हैं